अहमदाबाद। नवरात्रि के गरबा में विधर्मी युवकों को पकडकर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने पिटाई कर दी जिसके कारण इंटरनेट मीडिया पर इस पर खूब बहस हुई। बजरंग दल का कहना है कि हिन्दू त्योहार में विधर्मी युवकों को नहीं आने देंगे, लव जिहाद के मकसद से मुस्लिम युवक इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे। गुजरात में नवरात्रों के दौरान होने वाले गरबा स्थलों पर बजरंग दल के कार्यकर्ता अलग अलग समूह में पहुंचते हैं तथा वहां मौजूद संदिग्ध युवकों को तिलक लगाकर जयश्री राम के नारे लगवाते हैं। इसी दौरान अहमदाबाद सिंधू भवनरोड पर आर के पार्टी प्लॉट में बजरंग दल ने गरबा स्थल से चार मुस्लिम युवकों को पकड़ लिया गया। चारों युवकों पर लव जेहाद का आरोप है।

बजरंग दल के उत्तर गुजरात प्रांत संयोजक ज्वलित मेहता का कहना है कि मुस्लिम युवक गरबा समारोह में धार्मिक भावनाओं के साथ शामिल नहीं हुए थे बल्कि वह महिलाओं को परेशान करने के लिए आए थे। कार्यकर्ताओं ने यह भी कहा कि गरबा समारोह में लव जिहाद के मकसद से मुस्लिम युवक इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे।

गुजरात विहिप के प्रवक्ता हितेंद्र सिंह राजपूत ने बताया कि विहिप के युवक संगठन, बजरंग दल के स्वयंसेवक गरबा स्थलों के बाहर खडे होकर युवतियों को लवजिहाद के खतरों के बारे में जागरूक करने को पर्चे बांट रहे हैं। हितेंद्र सिंह राजपूत ने बताया कि ये स्वयंसेवक मुस्लिम समुदाय के लोगों को गरबा स्थलों में प्रवेश करने से रोक रहे हैं। राजपूत ने दावा किया कि हमारे कार्यकर्ता लव जिहाद के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए गरबा स्थलों के बाहर खड़े हैं।

वे मुस्लिम समुदाय के लोगों को गरबा स्थलों में प्रवेश करने से रोकते हैं। राजपूत ने दावा किया कि बजरंग दल के सदस्यों ने मंगलवार रात अहमदाबाद में एक कार्यक्रम स्थल से लव जेहाद के आरोप में चार मुस्लिम युवकों को पकड़ लिया गया। उन्होंने कहा कि हिंदू पुरुष लंबा तिलक लगाकर गरबा स्थल पर जाएं। इंटरनेट मीडिया पर इस घटना की वीडियो भी वायरल हुआ है।

Posted By: Navodit Saktawat

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close