नई दिल्ली। पाकिस्तान के बालाकोट में एक बार फिर आतंकियों की दहशतगर्दी की ट्रेनिंग शुरू हो गई है। सूत्रों के मुताबिक बालाकोट में जैश ए मुहम्मद के आतंकी शिविर में आत्मघाती हमलावरों समेत 45-50 कुख्यात आतंकियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसी साल फरवरी में भारतीय वायुसेना ने इस शिविर पर हमला किया था उसके बाद इस शिविर को छह महीने के लिए बंद कर दिया गया था। सरकार के शीर्ष स्तरीय सूत्रों के मुताबिक भारतीय खुफिया एजेंसियों को इस आशय की ठोस जानकारी मिली है। खुफिया एजेंसियां इस प्रशिक्षण शिविर पर लगातार कड़ी नजर रख रही हैं। इसमें तकनीक के जरिये निगरानी भी शामिल है। बालाकोट में प्रशिक्षण हासिल कर चुके कुछ आतंकवादियों को भारतीय सुरक्षा कैंपों को निशाना बनाने के लिए कश्मीर भेजा भी जा चुका है। गौरतलब है पिछले महीने सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने बताया था कि पाकिस्तान ने हाल ही में बालाकोट स्थित आतंकी शिविर को फिर से सक्रिय कर दिया है।

गौरतलब है इसी साल 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना के विमानों ने पाकिस्तान में अंदर तक घुसकर खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में स्थित जैश के आतंकी शिविर पर बम बरसाए थे। भारत के इस हमले में कई आतंकियों के मरने की आशंका जताई गई थी। वायुसेना ने उक्त कार्रवाई 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के जवाब में की थी जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। बालाकोट हमले के बाद तिलमिलाए पाकिस्तान ने विश्वस्तर पर भारत के पाक वायुसीमा में घुसने की बात तो स्वीकारी थी, लेकिन आंतकियों के मरने की बात को सिरे से नकार दिया था।

मुंह की खाने के बाद पाकिस्तान की बौखलाहट उस वक्त भी सामने आई थी जब उसने भारतीय वायुसेना का उल्लंघन किया था और उस वक्त उसका एक विमान भी क्षतिग्रस्त हो गया था और उसमें सवार पायलट की मौत हो गई थी।

Posted By: Yogendra Sharma