नई दिल्ली। 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के बाद ढाका में पकिस्तानी सैनिकों के आत्मसमर्पण का रास्ता हमवार करने वाले लेफ्टिनेंट जनरल जेएफआर जैकब (सेवानिवृत्त) का बुधवार को निधन हो गया। सेना के सूत्रों ने बताया कि 92 वर्षीय जैकब ने लंबी बीमारी के बाद बुधवार की सुबह अंतिम सांस ली।

वर्ष 1923 में जन्मे जैकब को 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में भारत की जीत और बांग्लादेश की आजादी में उनकी शानदार भूमिका के लिए जाना जाता है।

तत्कालीन मेजर जनरल जैकब ने युद्ध के दौरान भारतीय सेना की पूर्वी कमान के प्रमुख के रूप में अपनी सेवाएं दी थीं। ब्रिटिश भारत के अंतर्गत बंगाल प्रेसीडेंसी में जन्मे जैकब 19 वर्ष की उम्र में सेना में शामिल हो गये थे और 1978 में सेवानिवृत्त होने से पहले उन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध और 1965 के भारत-पाकिस्तात युद्ध में अपने सैन्य जौहर दिखाए।

सेवानिवृत्ति के बाद उन्होंने गोवा और पंजाब के राज्यपाल के रूप में अपनी सेवाएं दीं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags