Beating Retreat Song 2022: इस वर्ष के बीटिंग रिट्रीट समारोह में 29 जनवरी को सेना के बैंड में देश भक्ति गीत "ऐ मेरे वतन के लोगों" की धुन गूंजेगी। 1962 के भारत-चीन युद्ध के बलिदानियों की याद में कवि प्रदीप के लिखे इस गीत को लता मंगेशकर ने सुरों से संवारा है। बीटिंग रिट्रीट का समापन "सारे जहां से अच्छा हिंदोस्तां हमारा" की धुन से होगा। सेना की तरफ से शनिवार को जारी विवरणिका के मुताबिक महात्मा गांधी के पसंदीदा गीतों में से एक "एबाइड विद मी" को इस बार बीटिंग रिट्रीट समारोह में नहीं रखा गया है। इस गीत को स्काटलैंड के कवि और गायक हेनरी फ्रांसिस लिटे ने 1847 में लिखा था। इस गीत को 2020 में भी बीटिंग रिट्रीट समारोह से हटाने की कोशिश की गई थी, लेकिन हंगामा होने के बाद इसे शामिल कर लिया गया था। 1950 से ही यह गीत बीटिंग रिट्रीट में बजता आया था।

Beating Retreat Song 2022: जानिए कौन-कौन से गीत शामिल

सेना की विवरणिका (ब्रोशर) के मुताबिक 29 जनवरी को विजय चौक पर बीटिंग रिट्रीट समारोह में इस साल 26 धुनें बजाई जाएंगी। इनमें "ऐ मेरे वतन के लोगों" के साथ ही "हे कांचा", "चन्ना बिलौरी", "जय जनम भूमि", "हिंद की सेना" और "कदम कदम बढ़ाए जा" जैसे गीत शामिल हैं। बीटिंग रिट्रीट समारोह में 44 बिगुल वादक, 16 तुरही बजाने वाले और 75 ढोल वादक भाग लेंगे।

यहां भी क्लिक करें: न्यूजीलैंड की PM जेसिंडा अर्डर्न ने किया कोरोना नियमों का पालन, रद्द की अपनी शादी

Beating Retreat Song 2022: क्यों भड़की कांग्रेस

समारोह से "एबाइड विद मी" गीत को हटाने का कांग्र्रेस ने विरोध किया है। कांग्र्रेस नेता अजय कुमार ने ट्वीट किया, "नया भारत, न अमर जवान ज्योति, न बीटिंग रिट्रीट के दौरान एबाइड विद मी।" कांग्र्रेस प्रवक्ता शमा मोहम्मद ने भी ट्वीट कर कहा कि तुच्छ भाजपा सरकार द्वारा बापू की विरासत को मिटाने का एक और प्रयास।

शिव सेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने भी सरकार पर हमला बोलते हुए पूछा कि क्या "न्यू इंडिया" को फिर से लिखने के लिए अमूल्य परंपराओं को छोड़ना जरूरी है।

यहां भी क्लिक करें: यूपी में स्कूल अब 30 जनवरी तक बंद, जानिए बाकी राज्यों का अपडेट

Posted By: Arvind Dubey