Bihar Politics: नीतीश कुमार के गठबंधन तोड़ने और बीजेपी का साथ छोड़ने के फैसले पर अब बीजेपी नेताओं की कड़ी प्रतिक्रिया आ रही है। बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता अश्विनी चौबे ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए उन्हें 'पलटू राम' बताया। वहीं, भाजपा सांसद रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर कई सवाल उठाये। उन्होंने कहा कि भाजपा आज नीतीश जी से पूछना चाहती है कि 2015 में लालू जी के साथ जाने के फैसले पर आपने पुनर्विचार क्यों किया? 2017 में आपने क्यों कहा कि मैं बहुत असहज हूं क्योंकि तेजस्वी जी अपने ऊपर लगे गंभीर भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब नहीं दे पा रहे हैं? ये आपने खुलकर कहा था। उन्होंने कहा नीतीश कुमार जी हमें छोड़कर चले गए और कहा कि भाजपा उनकी पार्टी को तोड़ने का काम कर रही थी। नीतीश जी हम पूछते हैं कि आप हमारे साथ कैसे और क्यों आए थे?

वहीं, बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जायसवाल ने पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसे जनता के साथ धोखा बताया। उन्होंने कहा कि BJP ने 74 सीट जीतेने के बाद भी वादे के मुताबिक नीतीश कुमार जी को NDA गठबंधन का मुख्यमंत्री बनाया था। यह बिहार की जनता और BJP के साथ धोखा है, जनता के फैसले का उल्लंघन है।

वहीं केन्द्रीय मंत्री और बीजेपी नेता आर.के. सिंह ने कहा कि ये हमारे राज्य का दुर्भाग्य है। 15 साल राजद की सरकार रही। वे (जदयू) पहले भी राजद के साथ गए थे फिर वापस आए, अब फिर से उनके साथ जा रहे हैं। इसमें बिहार की भलाई नहीं नहीं है। ये विकास की नहीं सत्ता की राजनीति हो रही है।

दूसरी ओर, बिहार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे मंगल पांडे ने कहा कि नीतीश कुमार पूरी जिंदगी कांग्रेस के खिलाफ लड़ते रहे और आज उसी के साथ हो लिए। बिहार की जनता ने जो मैंडेट दिया है, उसके साथ धोखा हुआ है। यह एक नैतिक लड़ाई है। बीजेपी यह लड़ाई बिहार की जनता के साथ मिलकर लड़ेगी।

Koo App

बिहार की जनता के द्वारा NDA के पक्ष में दिए गए 2020 के जनादेश के साथ विश्वासघात !

- RCP Singh (@RCP_Singh) 9 Aug 2022

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close