कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश में तबाही मचा रखी है। देश की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से हिल चुकी हैं। न अस्पतालों में खाली बेड मिल रहे हैं और ना ही मरीजों को ऑक्सीजन मिल पा रही है। कई राज्यों में हालात इतने खराब हैं कि नेताओं और डॉक्टरों को भी बेड नहीं मिल पा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला है। यहां भाजपा विधायक अपनी कोरोना संक्रमित पत्नी को अस्पताल में बेड तक नहीं दिला सके। विधायक ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर स्वास्थ्य विभाग के अफसरों पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

फिरोजाबाद जिले के जसराना से विधायक रामगोपाल उर्फ पप्पू लोधी की पत्नी संध्या लोधी कोरोना संक्रमित हो गई थीं। कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें फिरोजाबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन जब तबियत ज्यादा खराब होने लगी तो डॉक्टरों ने उन्हे आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया गया। लेकिन यहां उनको कोई बेड ही नहीं मिला।

घंटो तक फर्श पर पड़ी रहीं विधायक की पत्नी

विधायक ने अपने वीडियो में बताया कि आगरा मेडिकल कॉलेज में उनकी पत्नी को फर्श पर लिटा दिया गया। वह करीब 3 घंटे तक वह जमीन पर ही पड़ी रहीं। लेकिन, वहां के डॉक्टरों ने कोई ध्यान नहीं दिया। काफी देर भटकने के बाद कोविड वार्ड के सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें भगा दिया। बेड के लिए भजपा विधायक ने आगरा डीएम को कई बार फोन किया। इसके बाद उन्हें बेड मिला।

विधायक पप्पू लोधी को भी हुआ था कोरोना

भाजपा विधायक ने कहा "जब सत्ताधारी पार्टी के एक विधायक के साथ ऐसा सलूक किया जा रहा है तो सोचने वाली बात है कि आम जनता की क्या हालत होगी। उन्होंने बताया कि मैं स्वयं इस बार कोरोना से संक्रमित हूं। शनिवार को मेरी अस्पताल से छुट्टी हुई है। इसलिए में जनता की मदद करने नहीं आ पा रहा हूं। पत्नी की आगरा में कैसी हालत है कोई नहीं पता चल रहा। एक विधायक होकर भी पत्नी के बारे में हालचाल नहीं जान पा रहा हूं।"

Posted By: Arvind Dubey