Budget Session : संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होगा। यह सत्र दो चरणों में होगा। इसके बाद 3 अप्रैल को इस सत्र का समापन होगा। यह जानकारी एक आधिकारिक सूचना में दी गई है। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद 31 जनवरी को सुबह 11 बजे संसद के केंद्रीय कक्ष में लोकसभा और राज्यसभा दोनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगे। विभिन्न समितियों के अनुदानों की मांगों पर विचार करने के लिए सदन 11 फरवरी को स्थगित होगा और 2 मार्च को फिर से बैठक होगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को 2020-21 का आम बजट पेश करेंगी।

कई साल से नहीं बदले स्लैब

विशेषज्ञों का मानना है कि वित्त मंत्री को आयकर स्लैब में बदलाव करना चाहिए। पिछले कई सालों से इनमें कोई बदलाव नहीं किया गया है। बता दें कि पिछले साल जब मोदी सरकार ने कॉर्पोरेट टैक्स (Corporate Tax) में कटौती की थी उस दौरान भी इनकम टैक्स के रेट में कमी किए जाने की मांग उठी थी। जिससे खरीदी बढ़ सके और अर्थव्यवस्था को गति मिल सके।

आम लोगों की उम्मीद

आम नौकरीपेशा और सामान्य करदाता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की दूसरी पारी में टैक्स की दरों में राहत की उम्मीद कर रहे हैं। सरकार ने हालांकि आम नौकरीपेशा लोगों की पांच लाख रुपए तक की कर योग्य आय पहले ही टैक्स-फ्री कर चुकी है, लेकिन टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है। 60 साल के वरिष्ठ नागिरक और 80 साल से अधिक के बुजुर्गों के लिए क्रमशः तीन लाख और पांच लाख रुपए तक की आय टैक्स-फ्री रखी गई है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket