शाहजहांपुर। पूर्व मंत्री चिन्‍मयानंद मामले में अब स्‍पेशल इंवेस्‍टीगेशन टास्‍क को 23 सितंबर तक हाईकोर्ट में रिपोर्ट सौंपना है। इसी कवायद के चलते SIT सबूत जुटाने में लगी है। हालांकि, मामले से जुड़े बहुत सारे बिंदुओं पर अभी भी जांच नहीं हो पाई है।

आरोपितों से पूछताछ की अनुमति ली

कुछ साक्ष्य भी इकट्ठे करने हैं। इसी कवायद में एसआइटी शनिवार को जेल पहुंची। रंगदारी के आरोप में बंद तीनों युवकों से पूछताछ की। शनिवार दोपहर एसआइटी के कुछ सदस्य कोर्ट पहुंचे और वहां से जेल में बंद रंगदारी के आरोपितों से पूछताछ की अनुमति ली।

रिपोर्ट कर रहे तैयार

इसके बाद जेल पहुंचकर संजय सिह, सचिन सेंगर व विक्रम सिंंह से पूछताछ की। चिन्मयानंद से भी पूछताछ हुई या नहीं, इस बाबत स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी। बताया जा रहा है कि SIT के प्रभारी IG नवीन अरोड़ा शनिवार सुबह जांच के सिलसिले में जिले से बाहर चले गए। IPS मालती सिंंह व टीम के अन्य सदस्य रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं।

वीडियो फुटेज फॉरेंसिक जांच के लिए भेजी

शुक्रवार को एसआइटी प्रभारी नवीन अरोड़ा ने बताया था कि कुछ साक्ष्य एकत्र करना बाकी हैं। चिन्मयानंद ने मोबाइल से कुछ ब्योरा डिलीट कर दिया था, जिसे रिकवर कराया जा रहा। छात्रा व संजय के मोबाइल फोन नहीं मिले हैं। एक-दो जगह की वीडियो फुटेज फॉरेंसिक जांच के लिए भेजी गई है, जिसकी रिपोर्ट अभी आनी है।

छात्रा का एलएलएम द्वितीय वर्ष में दाखिला लंबित

चिन्मयानंद पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली छात्रा का एलएलएम द्वितीय वर्ष में दाखिला लंबित है। एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय ने उन्हें सूचना भेजी है कि प्रवेश प्रक्रिया पूरी कर लें, क्योंकि परीक्षा फॉर्म भरे जा रहे हैं। इसकी अंतिम तिथि 30 सितंबर है। अधूरी प्रवेश प्रक्रिया के कारण वह न तो परीक्षा फॉर्म भर पाएगी और न ही छात्रवृत्ति एवं शुल्क प्रतिपूर्ति फॉर्म।