नई दिल्ली। नागरिकता कानून में संशोधन के विरोध में हो रही हिंसा और प्रदर्शनों के बाद इसे लेकर देश में जहां राजनीति जारी है वहीं दुनिया में भी इसे लेकर नजर रखी जा रही है। इस बीच खबर है कि 15 दिसंबर को भारत दौरे पर आने वाले जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का दौरा रद्द कर दिया गया है। ऐसा फैसल नागरिकता कानून में संशोधन के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन को देखते हुए लिया गया है। हालांकि, फिलहाल शिंजो आबे के दौरे को लेकर जापान की तरफ से कोई आधिकारिक बयान नहीं जारी किया गया है। वहीं भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इसकी पुष्टि करते हु ट्वीट किया है।

रवीश कुमार ने अपने ट्वीट में लिखा है कि दोनों देशों ने आपसी सहमति से जापानी पीएम के प्रस्तावित भारत दौरे को आगे बढ़ा दिया गया है।

बता दें कि भारत व जापान के बीच होने वाली सालाना शीर्ष स्तरीय बैठक गुवाहाटी में होनी है। असम में लगातार हो रहे विरोध प्रदर्शन के बावजूद गुरुवार को गृह मंत्रालय ने बैठक की जगह में बदलाव की आशंका को खारिज कर दिया। विदेश मंत्रालय के अनुसार पीएम नरेंद्र मोदी और जापान के पीएम शिंजो आबे के बीच होने वाली बैठक को लेकर दोनों देशों के अधिकारी संपर्क में हैं। यह बैठक 15 से 17 दिसंबर, 2019 के बीच गुवाहाटी में होनी है।

गृह मंत्रालय के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार बैठक की जगह में बदलाव की कोई जरूरत नहीं है और असम की स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हिंसा और उपद्रव को रोकने के लिए असम सरकार को पर्याप्त केंद्रीय बल की सहायता दे दी गई है।

खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि एक-दो दिन में असम के हालात सामान्य हो जाएंगे। उनके अनुसार नागरिकता कानून में संशोधन के खिलाफ अफवाह फैलाकर लोगों को भड़काया जा रहा है। इन अफवाहों की काट और आम लोगों को सही तथ्यों से अवगत कराने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं।

Posted By: Ajay Barve

fantasy cricket
fantasy cricket