पटना। Citizenship Amendment Act: संशोधित नागरिकता कानून पर चल रही राजनीति के बीच राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद भी विपक्षी दलों के साथ मैदान में कूद पड़े। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि हजारों जख्म खाकर भी वह दुश्मनों का सामना करने के लिए डटे हुए हैं। चारा घोटाला मामले में रांची की एक जेल में सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने अपने ट्विटर हैंडल पर उर्दू की कुछ पंक्तियां पोस्ट कीं। इस हैंडल को उनके कार्यालय द्वारा संचालित किया जाता है।

लालू यादव ने ट्वीट किया है...

अभी आंखों की शमाएं जल रही हैं उसूल जिंदा है, आप लोग मायूस मत होना अभी बीमार जिंदा है।

हजारों जख्म खाकर भी मैं दुश्मन के मुकाबिल हूं, खुदा का शुक्र अब तक दिल-ए-खुद्दार जिंदा है।

इस ट्वीट में लालू की एक पुरानी रैली के वीडियो भी पोस्ट किया गया है, जिसमें वह कार्यकर्ताओं से कह रहे हैं कि वे अल्पसंख्यकों के समर्थन में खड़े हों। वह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत और भाजपा सरकार पर धर्मांतरण को लेकर हमला करते दिख रहे हैं।

बताते चलें कि गुरुवार रात को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने नागरिकता संसोधन विधेयक पर हस्ताक्षर कर इसे कानून बना दिया है। इस कानून के तहत साल 2015 के पहले पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से भारत आए गैर-मुस्लिम शरणार्थियों के लिए भारतीय नागरिकता हासिल करना आसान हो गया है।

हालांकि, इस कानून के विरोध में पूर्वोत्तर के असम में कम से कम दो लोगों की हत्या कर दी गई है और विरोध प्रदर्शन जारी हैं। पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में भी विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गए जहां शुक्रवार शाम एक रेलवे स्टेशन परिसर में आग लगा दी गई। प्रदर्शनकारियों ने स्टेशन परिसर में रेलवे पुलिस बल के जवानों की भी पिटाई की।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

fantasy cricket
fantasy cricket