गुवाहाटी/अगरतला/ईटानगर। लोकसभा में सोमवार को नागरिकता संशोधन विधेयक पारित होने के विरोध में पूर्वोत्तर राज्यों के बड़े हिस्से में मंगलवार को व्यापक प्रदर्शन हुए। छात्र संगठनों तथा वामपंथी-लोकतांत्रिक संगठनों के आह्वान पर आयोजित बंद और इस दौरान हिंसा तथा आगजनी की घटनाओं के कारण जनजीवन पर व्यापक असर पड़ा। बिल बुधवार को राज्यसभा में भी पेश किया जाना है। इसके मद्देनजर विरोध और बढ़ने की आशंका है।

असम : ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन तथा नॉर्थ ईस्ट स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन (नेसो) के आह्वान पर दिन भर के बंद के दौरान राज्य की ब्रह्मपुत्र घाटी के इलाकों में जनजीवन अस्तव्यस्त रहा। बंद का आह्वान वामपंथी रुझान वाले एसएफआई, डीवाईएफआई, एआईडीडब्ल्यू, एआईएसफ तथा एआईएसए जैसे संगठनों ने भी किया था।

गुवाहाटी में भी कई जगहों पर बड़ी जूलुस निकाली गई तथा विधेयक के खिलाफ कई भावनात्मक नारे भी लगाए। सचिवालय तथा विधानसभा भवन के निकट प्रदर्शनकारियों का सुरक्षा बलों के साथ संघर्ष भी हुआ।

वहीं, डिब्रूगढ़ जिले में बंद समर्थकों की सीआईएसएफ के जवानों से भिड़ंत हो गई। दुलियाजन में श्रमिकों को ऑयल इंडिया लि. के कार्यालय में प्रवेश करने से रोकने की कोशिश में तीन प्रदर्शनकारियों को चोटें भी आईं। राज्य में रेल पटरियों पर अवरोध के कारण ट्रेन सेवाओं पर असर हुआ। बंद के कारण कई विश्वविद्यालयों में परीक्षाएं स्थगित कर दी गईं। हालांकि बंगाली बहुल बराक घाटी में बंद का मामूली असर रहा।

त्रिपुरा : त्रिपुरा में भी नेसो के बंद का असर रहा। राज्य के धलाई जिले में दुकानों में आगजनी की, जिनमें अधिकांश दुकानें गैर-आदिवासियों की थीं। हालांकि इसमें कोई व्यक्ति हताहत नहीं हुआ। इलाके में सुरक्षा बलों की तैनाती कर दी गई है लेकिन गैर-आदिवासी दुकानदारों में भय बना हुआ है। बंद के कारण धलाई तथा खोवाई जिलों में लोग अपने घरों में ही बंद रहे। दफ्तरों में भी उपस्थिति काफी कम रही। राज्य में ट्रेन सेवा लगभग पूरी तरह ठप रही तथा वाहनों की आवाजाही भी प्रभावित हुई।

अरुणाचल प्रदेश : शैक्षणिक संस्थान, बैंक, व्यावसायिक प्रतिष्ठान और बाजार बंद रहे। सड़कों पर निजी वाहन भी नहीं चले। राज्य में बंद का आह्वान ऑल अरुणाचल प्रदेश स्टूडेंट्स यूनियन (एएपीएसयू) ने किया था। सरकारी दफ्तरों में उपस्थिति लगभग शून्य रही।

मणिपुर : मणिपुर में भी ऑल मणिपुर स्टूडेंट्स यूनियन ने मंगलवार को तड़के 3 बजे से शाम 6 बजे तक बंद का आह्वान किया था। संगठन ने चेतावनी दी है कि बिल को तत्काल वापस नहीं लिए जाने पर आंदोलन और तेज किया जाएगा।

मेघालय : राज्य की राजधानी शिलांग में टायर जलाने तथा वाहनों में तोड़फोड़ की खबरें हैं। मावलाई इलाके में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस वाहनों पर मोलोतोव कॉकटेल फेंक कर उन्हें नुकसान पहुंचाया। संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त पुलिस बल तथा सीआरपीएफ के जवान तैनात किए गए हैं।

हाईलाइट्स :

-छात्र संगठनों के आह्वान पर असम में बंद से जनजीवन अस्त-व्यस्त

-त्रिपुरा के धलाई जिले में गैर-आदिवासियों की दुकानों में आगजनी

-मणिपुर में भी बंद, एएमएसयू ने दी आंदोलन तेज करने चेतावनी

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan