मथुरा। देश के लिए लाडले की कुर्बानी को सम्मान दिलाने के लिए परिजनों का अनशन मंगलवार को खत्म हो गया। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के दूत बनकर पहुंचे राज्यमंत्री रामसकल गुर्जर ने शहीद समोद की पत्नी और पिता से मुलाकात कर मदद का आश्र्वासन दिया।

वहीं आतंकवाद विरोधी मोर्चा के अध्यक्ष मनिंदरजीत सिंह बिट्टा व पूर्व सांसद जयंत चौधरी ने भी शहीद के परिजनों से मिलकर सांत्वना देते हुए सहयोग का आश्वासन दिया। 20 लाख के इनामी दुर्दांत आतंकवादी के साथ कश्मीर में हुई मुठभेड़ में 14 आरआर में राइफलमैन समोद सिंह शहीद हुए थे।

शहीद के अंतिम संस्कार में हुकूमत के नुमाइंदों के न पहुंचने से खफा शहीद की पत्नी सीमा और परिजन बेमियादी अनशन पर बैठे थे। सोमवार को मुख्यमंत्री ने शहीद के परिजनों को 20 लाख रुपये दिए जाने की घोषणा की थी। मंगलवार को मंत्री रामसकल गुर्जर भवनपुरा पहुंचे और उनके परिजनों को सांत्वना दी। परिजनों ने उनको 10 सूत्रीय मांगों का पत्र भी सौंपा। इसके बाद पत्नी ने अनशन तोड़ा।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket