- 4,970 करोड़ रुपये का पूरा कर्ज जल्द उतारने का किया वादा

- ग्लोबल विलेज टेक पार्क की बिक्री से कंपनी को मिलेंगे करीब 3,000 करोड़ रुपये

------------------------

बेंगलुरु। कॉफी डे इंटरप्राइजेज लिमिटेड (CDEL) ने कर्जदाताओं को भरोसा दिलाया है कि वह अपना पूरा कर्ज चुका देगी। कंपनी की ओर से जारी बयान में शनिवार को कहा गया कि कॉफी डे ग्रुप पर इस वक्त 4,970 करोड़ रुपए का कर्ज है और सभी कर्जदाताओं के कर्ज का भुगतान किया जाएगा। इस रकम में कंपनी ने सेक्योर्ड लोन के रूप में 4,796 करोड़ रुपए लिए हैं, जबकि अनसेक्योर्ड लोन के रूप में 174 करोड़ रुपए मिले हैं।

CDEL ने पहले ही कह चुकी है कि वह ग्लोबल विलेज टेक पार्क का विनिवेश करेगी। इसकी बिक्री से कंपनी को 2,600 से 3,000 करोड़ रुपये तक मिलने की उम्मीद है। ग्लोबल विलेज टेक पार्क का स्वामित्व CDEL की सहायक शाखा टैंगलिन डेवलपमेंट्स लिमिटेड के पास है। अपने बयान में CDEL ने कहा कि ग्लोबल विलेज की बिक्री के बाद कॉफी डे ग्रुप पर कर्ज घटकर 2,400 करोड़ रह जाएगा।

कंपनी के मुताबिक, सिकल लॉजिस्टिक्स और मैग्नासॉफ्ट कंसल्टिंग को छोड़ दें, तो ग्लोबल विलेज की बिक्री के बाद ग्रुप पर अगले 45 दिनों में कर्ज घटकर 1,000 करोड़ रुपए रह जाएगा। वहीं, सिकल भी अपनी कुछ संपत्तियों की बिक्री प्रक्रिया में है। उसके बाद सिकल की वित्तीय स्थिति भी ठीक हो जाएगी।

गौरतलब है कि CDEL के मालिक वीजी सिद्धार्थ 30 जुलाई की शाम को कर्नाटक के मेंगलुरु के निकट एकाएक गायब हो गए थे। अगले दिन एक नदी से उनका शव बरामद किया गया था। गायब होने से पहले अपने कर्मचारियों को एक पत्र में उन्होंने लिखा कि उन पर प्राइवेट इक्विटी निवेशकों और टैक्स अधिकारियों का बहुत दबाव था। उन्होंने यह भी लिखा था कि वे अपने कर्मचारियों की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सके।

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket