मुंबई। जेट एयरवेज की मुंबई-जयपुर फ्लाइट में केबिन का प्रेशर लो होने की घटना के बाद क्रू मेंबर्स के खिलाफ हत्या की कोशिश और कर्तव्यों का पालन न करने की शिकायत दर्ज की गई है। गुरुवार को फ्लाइट में दबाव में कमी के कारण 166 में से 30 यात्रियों की नाक और कान से खून बहने लगा था।

विमान में ये घटना क्रू मेंबर की चूक से हुई, जो केबिन प्रेशर को मेंटेन करने वाले बटन को दबाना भूल गया था। बताया जा रहा है कि विमान जब बीच हवा में पहुंचा, तो 30 यात्रियों के नाक और कान से खून निकलने लगा। ऐसे में विमान में हड़कंप मच गया। किसी को समझ नहीं आ रहा था कि आखिर, ऐसा क्‍यों हो रहा है। तब क्रू मेंबर को ध्‍यान आया कि उन्‍होंने केबिन प्रेशर मेंटेन करने वाले स्विच को नहीं दबाया है। इसके चलते विमान के ऊंचाई पर पहुंचने से लोग हवा की कमी महसूस करने लगे। ऐसे में कुछ लोगों के नाक और कान से खून निकलने लगा, वहीं काफी लोगों के सिर दर्द होने लगा।

जेट एयरवेज के प्रवक्ता ने घटना पर सफाई देते हुए कहा था, "मुंबई से जयपुर जा रहे हमारे विमान को इसलिए वापस बुलाना पड़ा, क्योंकि केबिन प्रेशर कम हो गया था। 166 यात्रियों और 5 क्रू मेंबर्स समेत विमान को मुंबई में सामान्य ढंग से उतारा लिया गया है। सभी यात्री सुरक्षित हैं। विमान में जिन यात्रियों ने नाक और कान से ब्लीडिंग की शिकायत की थी, उन्हें फर्स्ट एड मुहैया कराया गया था"

नागरिक उड्डयन के महानिदेशालय (डीजीसीए) ने बताया है कि हादसे के सामने आने के बाद क्रू मेंबर्स को ड्यूटी से तुरंत हटा दिया गया है। मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। एयरक्राफ्ट एक्सिडेंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket