दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी हार के बाद अंदरुनी कलह सामने आ रहा है। इसी बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी हार पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी में नई सोच की जरुरत है। बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी पर अस्तित्व का संकट ही खड़ा हो गया है। बीते दो विधानसभा चुनाव में पार्टी ने खाता तक नहीं खोला है, ऐसे में अब पार्टी के निर्णयों पर सवाल खड़े होने लगे हैं। सिंधिया ने पार्टी को नई सोच की जरुरत बताने के साथ ही आज देश के बदलने की बात भी कही है।

सिंधिया ने कहा कि पार्टी को कार्यप्रणाली बदलने की जरुरत है। इसके पूर्व पार्टी की वरिष्ठ नेत्री और पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी भी पार्टी की हार पर आलाकमान सहित राज्य इकाई के नेताओं पर बड़े सवाल खड़े कर चुकी हैं।

मुखर्जी ने आलाकमान द्वारा निर्णय लेने में देरी करने और राज्य इकाई में एकता की कमी के गंभीर आरोप लगाए थे। इतना ही नहीं पार्टी का हिस्सा होने की वजह से उन्होंने हार के लिए खुद भी जिम्मेदारी लेने की बात कही थी।

2 चुनाव से दिल्ली में नहीं मिली सीट

दिल्ली के पिछले दो विधानसभा चुनाव कांग्रेस के लिहाज से बेहद बुरे साबित हुए हैं। साल 2015 और हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस सीट का खाता तक नहीं खोल पाई है। पार्टी की सूबे में इतनी बुरी हालत कभी नहीं रही है। इस बार तो कई वरिष्ठ नेताओं ने टिकट लेने तक से इंकार कर दिया था। ऐसे में पार्टी की खस्ता हालत के बाद सवाल खड़े होने लगे हैं।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan