नई दिल्ली। राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद नए कांग्रेस अध्यक्ष का इंतजार शनिवार को खत्म हो सकता है। कांग्रेस नेता और राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने बताया है किशनिवार को नए कांग्रेस अध्यक्ष के लिए रायशुमारी होगी और इसके बाद होने वाली CWC की बैठक में अध्यक्ष के नाम का ऐलान होगा।

इस बीच, शनिवार को होने वाली CWC की बैठक से पहले पार्टी के आलानेताओं की बीच मेल-मुलाकातों का दौर जारी रहा। अहमद पटेल, एके एंटनी और केसी वेणुगोपाल ने दिल्ली में सोनिया गांधी के निवास पर जाकर मुलाकात की। खबर है कि पार्टी अध्यक्ष के लिए मुकुल वासनिक, मल्लिकार्जुन खड़गे, अशोक गहलोत और सुशील कुमार शिंदे के नाम चर्चा में हैं। पार्टी में युवा अध्यक्ष की मांग कई बार उठ चुकी है।

बहरहाल, उम्मीद की जा रही है कि कांग्रेस कम से कम अपना नया अंतरिम अध्यक्ष तो शनिवार को चुन ही लेगी। हालांकि कार्यसमिति की बैठक से पहले शुक्रवार को हुई पार्टी के सभी प्रदेश नेताओं और सांसदों की बैठक में तमाम नेताओं ने राहुल गांधी को साफ संदेश दिया कि उन्हें थोपा गया अध्यक्ष मंजूर नहीं होगा।

इस बात की पूरी संभावना है कि अब कार्यसमिति की बैठक में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्षों को भी बुलाया जाएगा। वैसे तो रेस में पार्टी महासचिव मुकुल वासनिक आगे हैं मगर प्रदेश के नेताओं ने जिस तरह नए अध्यक्ष के लिए सक्षम नेतृत्व और दमदार चेहरे की वकालत की है, उस फॉर्मूले में वासनिक पूरी तरह फिट नहीं बैठते। हालांकि इस रेस में मल्लिकार्जुन खड़गे, पूर्व गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा के नाम भी संभावितों में शुमार हैं। खास बात यह है कि ये सभी नेता दलित समुदाय से हैं। युवा दावेदारों में राजस्थान के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट का नाम है जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अनुच्छेद 370 पर पार्टी लाइन की मुखालफत कर खुद को दौड़ से बाहर कर लिया है।

बता दें, लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। पार्टी नेताओं ने उन्हें मनाने की खूब कोशिश की, लेकिन नाकाम रहे।