Congress Protest Updates: नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया गांधी और राहुल गांधी के खिलाफ हुई कार्रवाई से तिलमिलाई कांग्रेस ने शुक्रवार को महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन किया। दिल्ली में जुटे पार्टी के बड़े नेताओं ने मार्च निकाला। पुलिस ने रोका तो गिरफ्तारी दी। राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा समेत 64 बड़े नेता हिरासत में लिए गए। सभी नेताओं को न्यू पुलिस लाइन किंग्सवे कैंप थाने में रोक कर रखा गया था। शाम को पुलिस ने हिरासत में लिए गये सभी नेताओं को रिहा कर दिया। प्रदर्शन के दौरान पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जोरदार हमला किया। उन्होंने कहा, उनके लिए मंहगाई नहीं है क्योंकि पीएम मोदी ने पूरे देश की संपत्ति अपने दोस्तों को दे दी है। 2-4 लोग रईस हो गए हैं, लेकिन आम जनता तरस रही है। उनको महंगाई इसलिए नहीं दिखती क्योंकि उनके पास पैसा ही पैसा है।

इससे पहले दिल्ली में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने कहा कि देश में लोकतंत्र खत्म हो चुका है। रोज लोकतंत्र की हत्या हो रही है। हम महंगाई और बेरोजगारी जैसे आम जनता के मुद्दे उठाना चाहते हैं, लेकिन सरकार हमें दबा रही है। गिरफ्तार कर रही है। बकौल राहुल गांधी, कांग्रेस ने 70 साल में जो बनाया था उसे 8 साल में मोदी सरकार ने ख़त्म कर दिया है। देश में लोकतंत्र की हत्या हो रही है और सब तमाशा देख रहे है हैं।

राहुल गांधी के आरोपों का जवाब देने के लिए भाजपा ने तत्काल प्रेस कॉन्फ्रेंस की। पूर्व कानून मंत्री और वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी को लोकतंत्र की चिंता सता रही है, जिनकी दादी ने देश में इमरेंजसी लगाई थी। कांग्रेस के राज में देश ने लोकतंत्र की हत्या देखी है। कांग्रेस के राज में भ्रष्टाचार हावी था।

Video: प्रियंका वाड्रा ने लांघा बैरिकेट

Image

Image

वीडियो: प्रियंका वाड्रा को पुलिस ने खींचकर गाड़ी में बैठाया।

पुलिस से टकराव, हिरासत में लिए गए राहुल गांधी - प्रियंका वाड्रा

काले कपड़ों में संसद भवन पहुंचे कांग्रेसी, विरोध प्रदर्शन में सोनिया गांधी शामिल हुईं

Image

Image

Image

Image

राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस की बड़ी बातें

हम लोकतंत्र की मौत देख रहे हैं। भारत ने लगभग एक सदी पहले से जो बनाया है, वह आपकी आंखों के सामने नष्ट हो रहा है। आज जो कोई भी इस तानाशाही के खिलाफ खड़ा होता है, उस पर शातिर हमला किया जाता है, जेल में डाला जाता है, गिरफ्तार किया जाता है और पीटा जाता है।

वो चाहते हैं कि आम लोगों के मुद्दे - चाहे महंगाई, बेरोजगारी, समाज में हिंसा - को नहीं उठाया जाना चाहिए। 4-5 लोगों के हितों की रक्षा के लिए एजेंडा चलाया जा रहा है और यह तानाशाही 2-3 बड़े व्यापारियों के हित में 2 लोगों द्वारा चलाई जा रही है।

मेरा काम आरएसएस के विचार का विरोध करना है और मैं इसे करने जा रहा हूं। जितना अधिक मैं यह करूंगा, उतना ही मुझ पर आक्रमण होगा, मुझ पर उतना ही अधिक आक्रमण होगा। मैं खुश हूं, मुझ पर हमला करो।

Congress Protest LIVE Updates: दिल्ली पुलिस ने नहीं दी प्रदर्शन की अनुमति

दिल्ली पुलिस ने इसकी अनुमति नहीं दी है। कांग्रेस की योजना है कि प्रधानमंत्री आवास का घेराव भी किया जाए। आशंका जताई जा रही है कि इस दौरान टकराव की स्थिति बन सकती है। कहा जा रहा है कि महंगाई और बेरोजगारी तो बहाना है, वास्तव में कांग्रेस ईडी की कार्रवाई के खिलाफ अपना गुस्सा निकालना चाहती है। रात से कांग्रेस के नेता दिल्ली पहुंच रहे हैं। पार्टी मुख्यालय में इनके ठहरने और खाने-पीने की व्यवस्था की गई।

फोटो: अकबर रोड के दृश्य जहां बैरिकेड्स लगाए जाते हैं और कार्यकर्ता के रूप में मौजूद पुलिस पार्टी कार्यालय के पास पहुंचने लगती है। जंतर मंतर को छोड़कर नई दिल्ली जिले के पूरे इलाके में सीआरपीसी की धारा 144 लागू।

Image

Image

Image

Image

राहुल ने कहा- मोदी से नहीं डरता, देशहित में काम करता रहूंगा

इससे पहले नेशनल हेराल्ड मामले में राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को संसद सत्र के दौरान ईडी द्वारा समन भेजने पर कांग्रेस भड़क गई है। मुख्य विपक्षी पार्टी ने कहा कि जबकि संसद की कार्यवाही चल रही है, ऐसे में खड़गे को समन करना लोकतंत्र का काला अध्याय और विधायिका का अपमान है। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा कि मोदीशाही का स्तर लगातार गिरता जा रहा है। खुद खड़गे ने भी राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि सरकार कांग्रेस को डराना-धमकाना चाहती है। उन्होंने कहा, पुलिस ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी का आवास घेर लिया है। यदि हम इस तरह काम करेंगे, तो क्या हमारा लोकतंत्र जीवित रहेगा? यह जान-बूझकर हमारा मनोबल गिराने, हमें नष्ट करने और डराने-धमकाने केलिए किया जा रहा है। हम डरेंगे नहीं।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ईडी की कार्रवाई को लेकर सरकार पर निशाना साधा। कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से नहीं डरते और उन्हें धमकाकर चुप नहीं कराया जा सकता। संसद के बाहर पत्रकारों से राहुल ने कहा, यह डराने-धमकाने की कोशिश है। हमें धमकाया नहीं जा सकता। राहुल ने कहा, वे जो करना चाहते हैं, उन्हें कर लेने दीजिए। यह कोई मायने नहीं रखता। मैं देश और लोकतंत्र की रक्षा के लिए काम करता रहूंगा।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close