चंडीगढ़। करीब नौ साल पहले कांग्रेस से अलग होकर अस्तित्व में आई हरियाणा जनहित कांग्रेस (बीएल) की घर वापसी से पहले पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ मंत्रणा करेगी। पार्टी प्रमुख कुलदीप बिश्नोई ने इसके लिए इसी सप्ताह बैठक बुला ली है। यह बैठक गुड़गांव में 26 या 27 अप्रैल को हो सकती है। हजकां (बीएल) का किसी भी समय कांग्रेस में विलय हो सकता है।

हजकां प्रमुख कुलदीप बिश्नोई की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की चर्चा तीन दिन से चल रही है, लेकिन अभी तक उनकी सोनिया से मुलाकात नहीं हो पाई है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ कुलदीप की कई बार मंत्रणा हो चुकी है। उनकी घर वापसी का अंतिम फैसला कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को करना है।

प्रदेश में जिस तरह से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डा. अशोक तंवर के बीच तकरार बढ़ती जा रही है, उसके मद्देनजर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी चाहते हैं कि कुलदीप अपने पुराने घर कांग्रेस में लौट आएं, ताकि उन्हें आगे कर न केवल पुराने दिग्गजों की लड़ाई पर ब्रेक लगाई जा सके, बल्कि संकट के समय कुलदीप का पार्टी हित में राजनीतिक इस्तेमाल भी किया जा सके।

हजकां की नींव दिसंबर 2007 में तब पड़ी थी, जब कांग्रेस ने 2005 में पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल को वादे के अनुरूप सीएम पद नहीं दिया था। भजनलाल के निधन के बाद कुलदीप बिश्नोई ने पार्टी को तमाम झंझावात के बावजूद न केवल चलाया बल्कि छह विधायक तक जितवाए। उन्हें भाजपा से भी धोखा मिला।

कुलदीप बिश्नोई ने कांग्रेस में वापसी के लिए अपनी पार्टी के प्रमुख नेताओं के साथ मंथन किया है, जिसमें उन्हें कांग्रेस को सही विकल्प के रूप में चुनने की सलाह दी गई है। कांग्रेस का एक बड़ा धड़ा चाहता है कि कुलदीप की कांग्रेस में वापसी हो। इसलिए उनके लिए पार्टी में माहौल बनाया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार बात मुख्यमंत्री के दावेदार के रूप में अड़ी हुई है, लेकिन माना जा रहा है कि कांग्रेस उन्हें राष्ट्रीय टीम में बड़ा पद दे सकती है। अंतिम फैसले के लिए कुलदीप अगले दो से तीन दिन में कार्यकर्ताओं की बैठक करेंगे।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना