गुड़गांव में खुले में नमाज का विरोध बढ़ने लगा है। शुक्रवार को सेक्टर 12 चौक के पास खुल में नमाज अदा कर रहे मुसलमानों का विरोध हुआ। कुछ लोगों ने वहां पहुंचकर जय श्रीराम के नारे लगाए। हालांकि वह मौजूद पुलिस ने उन्हें आगे बढ़ने नहीं दिया। इस मामले में ईस्ट राजीव नगर निवासी कमलेश सैनी ने सेक्टर 14 पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ समय से लोग यहां प्राइवेट जमीन पर नमाज पढ़ रहे हैं। ये स्थानीय लोग नहीं हैं।

प्रशासन ने दो हफ्तों का मांगा समय

बता दें सेक्टर 47 में एक माह से लगातार हर शुक्रवार को खुले में नमाज अदा करने का विरोध हो रहा है। पुलिस हालात को काबू में रखा है। अब प्रशासन ने विवाद को सुलझाने के लिए दो हफ्ते का समय मांगा है। जिस कारण शुक्रवार को वहां सब कुछ सामान्य रहा। लेकिन सेक्टर 12ए में विरोध शुरू हो गया। करीब 30 से 35 लोग नारेबाजी करते हुए पहुंच गए।

रोहिंग्या या बांग्लादेशी होने का शक

इस मामले में ईस्ट राजीव नगर निवासी कमलेश सैनी ने पुलिस को लिखित शिकायत दी। उनका कहना है कि कुछ समय से यहां लोग खुले में आकर नमाज पढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन लोगों के रोहिंग्या या बांग्लादेशी होने का शक है। ऐसे में इनके दस्तावेज चेक करने चाहिए। सैनी ने आगे कहा, 'अगर आगे भी लोगों ने नमाज पढ़ी तो स्थानीय रहवासी विरोध करेंगे।' वह माहौल खराब हुआ तो इसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

सेंट्रल स्कूल में नमाज

इधर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में ऐसा मामला सामने आया है। यहां सात नंबर स्ट्रॉप के पास सेंट्रल स्कूल-2 के परिसर में अवैध मस्जिद बन गई है। दरअसल शुक्रवार को शिकायत पर सांसद प्रज्ञा सिंह वहां पहुंची थीं। उन्होंने कहा कि पहले यहां 10 से 12 लोग नमाज के लिए आते थे। वह संख्या बढ़कर 250 हो गई। यहां कैंपस में पीछे एक गेट बना दिया गया है। इस स्कूल परिसर से सरोजिनी नायडू कन्या विद्यालय भी लगा हुआ है। सांसद ने जांच के आदेश दिए हैं।

Posted By: Shailendra Kumar