Covid 19 Booster Dose: केंद्र सरकार ने वयस्कों के लिए कार्बेवैक्स वैक्सीन के बूस्टर डोज को देने की मंजूरी दे दी है। लेकिन जिन वयस्कों ने कोविशील्ड या कोवैक्सिन की दोनों खुराक ले ली है वे ही इस बूस्टर डोज को लगवा सकते हैं। केंद्र सरकार के आधिकारिक सूत्रों ने ये जानकारी दी है। बता दें कि देश में पहली बार ऐसा हो रहा है कि पहली और दूसरी खुराक के तौर पर दी गई वैक्सीन से कोई अलग वैक्सी प्रीकॉशन डोज के रूप में लगाई जाएगी। पीटीआई के मुताबिक केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने टीकाकरण राष्ट्रीय तकनीकी परामर्श समूह की सिफारिशों के आधार पर ही यह मंजूरी दी गई है।

कार्बेवैक्स लगाने को मिली मंजूरी

सूत्रों से पता चला है कि 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को बूस्टर डोज के तौर पर कार्बेवैक्स वैक्सीन लगाने पर विचार किया गया है। जिन लोगों को कोवैक्सिन या कोविडशिल्ड टीके की दूसरी खुराक लिए हुए 6 महीने या 26 हफ्ते हो चुके हैं। इस आयु वर्ग के लोगों को पहले लगे टीके से अलग प्रीकॉशन डोज दी जाएगी। भारत का पहला स्वदेशी RBD प्रोटीन सबयूनिट कार्बेवैक्स टीका फिलहाल 12 से 14 वर्ष के बच्चों को लगाया जा रहा है।

तीसरी खुराक के तौर पर कार्बेवैक्स

बता दें कि कोविड 19 वर्किंग ग्रुप ने हाल ही हुई बैठक में तीसरे चरण के आंकड़ों की समीक्षा की थी। इसमें कोविड शील्ड और कोवैक्सिन की दोनों खुराक ले चुके 18 से 80 साल के लोगों को कार्बेवैक्स वैक्सीन की तीसरी खुराक के तौर पर दिए जाने के बाद उनकी प्रतिरोधक क्षमता पर होने वाले संभावित प्रभाव का आकलन किया गया था। आंकड़ों की जांच करने के बाद CWG ने पाया कि कोवैक्सीन और कोविडशील्ड की दोनों खुराक लेने वालों को तीसरी खुराक के रूप में कार्बेवैक्स टीका लगाया जा सकता है। जो कि वायरस से लड़ने के लिए एक एंटीबॉडी पैदा करता है। साथ ही आंकड़ों के मुताबिक यह असरदार भी है। भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने 4 जून को 18 साल या इससे ज्यादा उम्र के लोगों को तीसरी खुराक के रूप में कार्बेवैक्स वैक्सीन लगाने को मंजूरी दी थी।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close