कोलकाता। लॉकडाउन की वजह से अंतरराष्ट्रीय सीमा से होकर बंगाल सहित कोलकाता में बड़ी मात्रा में होनेवाली सोने और अन्य वस्तुओं की तस्करी पर लगाम लग गई है। इससे सुरक्षा एजेंसियों को भी काफी राहत मिली है। डीआरआई की कोलकाता जोनल यूनिट के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि चूंकि ट्रेन से लेकर बस सहित सभी परिवहन सेवाएं बंद हो गई है ऐसे में तस्करों की गतिविधियां भी फिलहाल थम गई है। कहीं भी आने-जाने पर जगह-जगह चेकिंग की जा रही है इसलिए ऐसे में तस्करी पर अंकुश लगना लाजिमी है। इसके बावजूद हम लोग पूरी तरह सतर्क होकर चौकसी कर रहे हैं।

बांग्लादेश और म्यांमार के रास्ते अक्सर बंगाल में बड़ी मात्रा में सोने की तस्करी की जाती है। खासकर पूर्वोत्तर राज्यों के जरिए उत्तर बंगाल के रास्ते विदेशी सोने की खेप कोलकाता आती है। ट्रेनों या बसों के माध्यम से तस्करों द्वारा सोने के बिस्कुटों आदि को कोलकाता लाया जाता है। डीआरआई अक्सर इस तरह की अवैध सोने की खेप पकड़ती रहती है। गौरतलब है भारत बांगलादेश सीमा पर अक्सर पशुओं और दूसरे सामानों की तस्करी की जाती है। इसके साथ ही सीमापार से असामाजिक तत्वों का भी काफी आना-जाना लगा रहता है। भारत-बांग्लादेश सीमा कई जगहों पर खुली हुई है यानी इन जगहों पर तारबंदी नहीं की गई है। इसका फायदा भी अक्सर तस्कर उठाते रहते हैं। कोरोना वायरस की वजह से किए गए देशव्यापी लॉकडाउन से सड़क से लेकर सीमा तक सूनसान हो गई है। जिसकी वजह से सीमा पर तस्करी पर लगाम लगी है।

Posted By: Yogendra Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket