तिरुपति । देश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच अस्पताल में बेड और ऑक्सीजन की कमी को सामान्य करने के लिए केंद्र सरकार भरपूर प्रयास कर रही है, इसके बावजूद अभी भी कई राज्य ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला अब आंध्र प्रदेश में तिरुपति में सामने आया है, जहां एक सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से 11 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गई है। मिली जानकारी के मुताबिक ये सभी कोरोना संक्रमित मरीज चित्तूर जिले के तिरुपति के रुइया अस्पताल के ICU वॉर्ड में भर्ती थे। इधर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वायएस जगनमोहन ने पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपए की राहत राशि देने की घोषणा की है।

जिला कलेक्टर ने की पुष्टि

चित्तूर जिले के कलेक्टर हरिनारायण ने मीडिया को बताया कि बीती रात सोमवार को रात 8 बजे केवल 5 मिनट के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति में मामूली गिरावट आई थी, जिससे कोरोना संक्रमण का उपचार करा रहे 11 मरीजों की मौत हो गई। वहीं मृतकों के परिजनों ने आरोप लगाया है कि ऑक्सीजन में आपूर्ति करीब आधे घंटे तक बाधित रही थी। स्थानीय सूत्रों के मुताबिक रुइया अस्पताल में करीब 10 हजार लीटर की क्षमता वाला ऑक्सीजन टैंक स्थापित है। जैसे ही रात आठ बजे ऑक्सीजन की आपूर्ति कम हुई, वैसी मरीजों की हालत खराब होती गई और कुछ ही देर में 11 मरीजों की मौत हो गई।

अस्पताल में 150 मरीज वेंटीलेटर पर

स्थानीय सूत्रों के मुताबिक करीब 30 मिनट बाद जब तमिलनाडु के ऑक्सीजन लाकर प्लांट में भरी गई, तब ऑक्सीजन की आपूर्ति में सुधार हुआ। साथ ही जिलाधिकारी ने बताया कि अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी नहीं थी। उन्होंने कहा कि घटना के बाद तत्काल 30 डॉक्टर भागकर ICU चले गए। उन्होंने कहा कि प्रेशर मुश्किल से 5 मिनट कम रहा, इस दौरान एक टैंकर आ गया, लेकिन जब तक उससे ऑक्सीजन सप्लाई बहाल की जाती तब तक 11 मरीजों की मौत हो चुकी थी।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags