मुंबई CoronaVirus Effect: कोरोना वायरस संक्रमण के कारण यात्रा के नियम भी बदलें हैं। बांबे हाई कोर्ट ने शुक्रवार को अंतरिम आदेश में विभिन्न एयरलाइंस को विमान में बीच की सीट बुक करने की अनुमति दे दी। लेकिन साथ ही यह भी कहा है कि उन्हें कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने के लिए नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) द्वारा जारी दिशा निर्देशों का सख्ती के साथ पालन करना चाहिए। बता दें कि हवाई यात्रा के दौरान बीच की सीट बुक करने को लेकर लगातार सवाल खड़े हो रहे थे।

जस्टिस एसजे कथावाला और जस्टिस एसपी तावड़े की खंडपीठ ने एयर इंडिया के पायलट की याचिका पर अपना आदेश सुरक्षित रख लिया है। याचिका में कहा गया था कि एयरलाइंस बीच की सीट को खाली रखने की शर्त का पालन नहीं कर रही हैं। याचिका में कहा गया कि बीच की सीट पर भी बुकिंग होने से यात्री पास-पास बैठ रहे हैं और ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग नियम की पालना नहीं हो रही है और यात्रियों में संक्रमण का खतरा रहता है। फिलहाल खंडपीठ ने अपने आदेश में ये भी कहा कि फैसला आने तक हवाई यात्रा के दौरान उन सभी नियमों और निर्देशों का पालन किया जाएगा जो डीजीसीए ने 31 मई को जारी किए थे।

बता दें कि डीजीसीए ने अपने दिशा निर्देशों कहा था कि एयरलाइंस कंपनियों को विमान में बीच की सीट को खाली रखने का प्रयास करना चाहिए। लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो बीच की सीट के यात्री को पूरे शरीर को ढकने के लिए गाउन, मास्क और चेहरे को ढकने के लिए शील्ड मुहैया कराया जाना चाहिए। ये तमाम कवायद इसलिए की जाएगी क्योंकि इससे यात्रियों में संक्रमण का खतरा ना हो, साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग नियम का भी पालन हो सके।

बता दें कि पिछले दिनों हवाई सेवा शुरू होने के बाद से कई फ्लाइट क्रू मेम्बर और यात्री भी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना