कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में लॉकडाउन लगा है और लोग घरों में बंद है। सब तरह के कामकाज ठप्प हैं। इसका असर आने वाले कई दिनों तक पड़ेगा। ताजा खबर पश्चिम बंगाल से है। हर साल इस समय शारदीय नवरात्र (Shardiya Navratri) की तैयारियां शुरू हो जाती हैं, लेकिन इस बार माता की मूर्तियां बनाने का काम ठप्प पड़ा हुआ है। इस समय तक देश-विदेश से मूर्तियों के ऑर्डर आ जाते हैं। इस बार ऑर्डर बहुत कम आए हैं और जो ऑर्डर आए हैं, उन्हें पूरा करने का काम शुरू नहीं हुआ है। कलाकारों का कहना है कि मूर्तियां बन गईं तो विदेश कैसे भेजेंगे क्योंकि सभी तरह की विमानन सेवाएं बंद हैं। पढ़िए कोलकाता से जयकृष्ण वाजपेयी की रिपोर्ट -

नहीं हुए ये आयोजन

कोरोना वायरस के कारण इस साल देशभर में बासंती नवरात्र में सामुदायिक दुर्गोत्सव का आयोजन नहीं हुआ और अब विदेशों में Shardiya Navratri पर भी संशय के बादल मंडराने लगे हैं। पश्चिम बंगाल और खासकर कोलकाता की दुर्गापूजा ही नहीं, दुर्गा प्रतिमाएं भी दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं। हर साल आश्विन मास में होने वाली Shardiya Navratri की पूजा के लिए विदेशों में रहने वाले भारतवंशियों की ओर से प्रतिमाओं का ऑर्डर कई माह पहले दिसंबर-जनवरी से ही कोलकाता के कुम्हारटोली के मूर्तिकारों को मिलने लगता था। लेकिन इस बार कोरोना वायरस ने ऐसा कहर ढहाया है कि जो थोड़े बहुत ऑर्डर मिले भी हैं, वह दुर्गा प्रतिमाएं भी विदेश नहीं भेजी जा सकी है।

इस बार नहीं गई एक भी मूर्ति

मूर्तिकार मिंटू पाल का कहना है कि हर साल 200 से 250 दुर्गा प्रतिमाएं कोलकाता के कुम्हारटोली से अलग-अलग देशों में भेजी जाती है। हम फरवरी के आखिरी सप्ताह से प्रतिमाओं को भेजने का काम शुरू कर देते हैं, लेकिन इस बार एक भी मूर्ति नहीं भेजी जा सकी है।

वहीं मूर्तिकार कौशिक घोष का कहना है कि इस साल जनवरी के पहले हफ्ते तक अमेरिका, इटली, जर्मनी, इंग्लैंड, कनाडा और दक्षिण अफ्रीका से ऑर्डर मिला थे, लेकिन भेजने की कोई व्यवस्था नहीं होने के कारण सब ऑर्डर कैंसिल हो गए हैं।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना