Coronavirus से निपटने के लिए दुनियाभर में वैक्सीन और दवाई पर काम हो रहा है और कई देश इसे बनाने का दावा भी कर चुके हैं लेकिन इसका कोई ठोस नतीजा सामने नहीं आया। इस बीच भारतीय फार्मा कंपनी ने बड़ी सफलता हासिल की है और कोरोना वायरस की वैक्सीन लॉन्च करने की दिशा में आगे बढ़ी रही है। खबर है कि यह वैक्सीन 15 अगस्त तक लॉन्च हो सकती है। Covaxin नाम की इस वैक्सीन को दूसरे चरण के क्लनिकल ट्रायल की मंजूरी मिल गई है जो 7 जुलाई से शुरू हो रहा है।

भारत बायोटेक ने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) और राष्ट्रीय विषाणुविज्ञान संस्थान (NIV) के साथ मिलकर इस वैक्सीन कैंडिडेट कोवाक्सिन Covaxin को विकसित किया है। इसका 7 जुलाई से क्लिनिकल ट्रायल इंसानों पर होगा। इस वैक्सीन को जानवरों पर किए गए ट्रायल में सफलता मिली है। इसके बाद ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (DCGI) ने इसे इंसानों पर ट्रायल के लिए मंजूरी दे दी है।

दवा नियामक सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (CDSCO) और स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने पिछले दिनों ही इस स्वदेशी Vaccine के फेज 1 और फेज 2 मानव क्लीनिकल परीक्षण की मंजूरी दी थी। वैक्सीन कैंडिडेट को बनाने के लिए NIV, पुणे में आइसोलेट कोरोना वायरस स्ट्रेन को भारत बायोटेक को ट्रांसफर किया गया था।

भारत बायोटेक के चेयरमैन व एमडी डॉ. कृष्णा ईल्ला ने कहा, "हमें कोविड-19 के भारत के पहले स्वदेशी वैक्सीन कोवाक्सिन की घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है। इसे तैयार करने में आइसीएमआर और एनआइवी का सहयोग उल्लेखनीय रहा। सीडीएससीओ के सक्रिय दृष्टिकोण से इसके परीक्षण की मंजूरी मिलने में सहायक रहा।"

कोविड-19 की वैक्सीन तैयार करने के लिए पूरी दुनिया में कोशिशें चल रही हैं। अभी तक किसी को सफलता नहीं मिली है। हालांकि, कुछ कंपनियों वैक्सीन के मानव परीक्षण के चरण में पहुंच गई हैं।

Posted By: Ajay Kumar Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Makar Sankranti
Makar Sankranti