Cyclone Nisarga Live Update: अरब सागर के ऊपर बने कम दबाव के क्षेत्र ने चक्रवाती तूफान की शक्ल ले ली है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) के अनुसार, यह निसर्ग चक्रवाती तूफान (Cyclone Nisarga) तेजी से आगे बढ़ रहा है। महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे ने तूफान के खतरे को देखते रहने एवं मुंबई वासियों से अगले दो दिनों तक सतर्क रहने एवं घरों में रहने को कहा है। Cyclone Nisarga के कारण मुंबई में कहीं-कहीं बारिश हो रही है। आशंका है कि आज रात तक यह चक्रवात पश्चिमी तटों से गुजरते हुए करीब 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गुजरात और महाराष्ट्र के तटों से टकराएगा। इसके चलते यहां भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया है। पढ़िए लाइव अपडेट्स -

मुंबई में अलर्ट: कोरोना वायरस से जूझ रही मुंबई पर बड़ा संकट गहरा रहा है। 100 साल में यह पहला मौका है जब कोई चक्रवात तूफान मायानगरी की ओर तेजी से बढ़ रहा है और माना जा रहा है कि आज रात से भारी बारिश शुरू हो सकती है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की है।

महाराष्ट्र में यहां हो सकता है असर: मुंबई समेत महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी, ठाणे, रायगढ़ और पालघर जिले।

गुजरात में यहां खतरा: मौसम विभाग के अनुसार सूरत, वलसाड, नवसारी, डांग, भावनगर, अमरेली, दीव की समुद्री सीमा पर तुफान टकरा सकता है।

वीडियो: समुद्र में पेट्रोलिंग कर मछुवाओं को वापस तट पर जाने कहा जा रहा है।

महाराष्ट्र: राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) की टीमें पालघर में सर्वेक्षण करती हुई दिखी। राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) के महानिदेशक एस.एन. प्रधान के अनुसार, राज्य द्वारा आवश्यक निवारक कार्यों के लिए गंभीर चक्रवात के मद्देनज़र महाराष्ट्र में एनडीआरएफ टीम तैनात किए गए हैं।

गुजरात के शहरों में मौसम पलटा, कई जगह बारिश: केंद्रीय ग्रहमंत्री शाह ने मुख्‍यमंत्री रुपाणी से वीडियो कॉन्‍फरेंस के जरिए चर्चा की तथा समुद्री तुफान को लेकर यहां चल रही तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही केंद्र की ओर से एनडीआरएफ व अन्‍य सुरक्षा संबंधी और मदद का भरोसा दिया। गुजरात के करीब 160 गांव इस तुफान के चलते प्रभावित हो सकते हैं। इसके चलते 80 से 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी।

गुजरात के तटवर्तीय इलाके से अरब सागर में करीब 120 किमी दूरी पर लॉ प्रेशर के बाद अचानक डीप डिप्रेशन में तब्‍दील हो जाने से दक्षिण गुजरात व सौराष्‍ट्र के कई जिलों में मौसम अचानक बदल गया तथा सोमवार को गुजरात के कई शहरों में बूंदाबादी हुई जबकि भावनगर में भारी बरसात हुई।

इससे पहले IMD के विज्ञानी आनंद कुमार दास ने सोमवार को जानकारी दी थी कि गुजरात में सूरत के तट से करीब 920 किलोमीटर दूर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम दिशा में अरब सागर के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र विक्षोभ में बदल गया है। अगले 36 घंटे में यह Cyclone Nisarga का रूप ले लेगा। कम दबाव का क्षेत्र और विक्षोभ के आधार पर चक्रवात की तीव्रता मापी जाती है। यह उत्तरी महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के बीच हरिहरेश्वर और दमन से तटों से 3 जून की शाम को गुजरेगा। Cyclone Nisarga करीब 90 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तटों से टकराएगा। इसकी वजह से तीन और जून को दक्षिणी गुजरात के साथ ही सौराष्ट्र के भावनगर और अमरेली जिलों में भारी बारिश होगी।

गुजरात में ऐसी हैं तैयारियां: मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने गांधीनगर में उच्च स्तरीय बैठक तैयारियों की समीक्षा की। उत्तरी गुजरात के पांच जिलों और भावनगर व अमरेली जिले में राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRf) की 10 टीमें तैनात कर दी गई हैं। उन्होंने इन इलाकों के लोगों से तीन और चार जून को घरों में ही रहने का अनुरोध किया है। मछुआरों को भी वापस बुला लिया गया है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना