नई दिल्ली। यूनाइटेड नेशन्स और नॉन प्रॉफिट संस्थाओं की इंटरनेशनल कन्फेडरेशन द्वारा संयुक्त रुप से DataLEADS के एडिटर इन चीफ सैयद नज़ाकत को प्रतिष्ठित कर्मवीर महारत्न अवॉर्ड दिया गया है। सैयद नज़ाकत को उनके द्वारा भारतीय पत्रकारिता (Indian Journalism) में सतत् एवं असाधारण सहयोग देने की वजह से इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के नवाजा गया है। 26 नवंबर को नोएडा में आयोजित एक समारोह में सैयद नजाकत को यह पुरस्कार प्रदान किया गया। इस अवसर पर सैयद नजाकत ने कहा कि कई कठिन चुनौतियों के बावजूद भी हम मीडिया के स्वर्णिम काल में मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि यह चिंतनीय है कि मीडिया गैर पत्रकारों के मजबूत और गहरे सहयोग की वजह से इंगेजमेंट बिल्डिंग, रेवेन्यू स्टेबलिटी और ओपन डेटा सोर्स को बेहतर कर रही है। इसके साथ ही फेक न्यूज से लड़ रही है।

सैयद नजाकत ने डाटा जर्नलिस्म को सहयोग करने, वॉचडॉग रिपोर्टिंग और भारत और आसपास के क्षेत्र में फैक्ट चेकिंग जैसे मीडिया इनिशिएटिव्स की श्रृंखला का सामने से नेतृत्व किया। नजाकत एक अवॉर्ड विनिंग पत्रकार होने के साथ ही मीडिया इंटरप्रोन्योर, DataLEADS के फाउंडर और एडिटर इन चीफ भी हैं। जो कि एक मल्टी प्लेटफॉर्म वाली डिजिटल मीडिया कंपनी है।

बता दें कि कर्मवीर पुरस्कार एक वैश्विक पुरस्कार (Global Awards) है जो सामाजिक न्याय और भारत के लोगों और नागरिकों के कार्यकलापों पर है। यह अवॉर्ड iCONGO (International Confederation of NGOs) इंडस्ट्री, मीडिया और सरकार के अन्य पार्टनर्स के साथ स्थापित किया गया है। यह अवॉर्ड हर साल 26 नवंबर को दिया जाता है जिस दिन भारत के संविधान का निर्माण हुआ था।

Posted By: Neeraj Vyas