जम्मू-कश्मीर पुलिस के DSP Davinder Singh को नए चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, DSP Davinder Singh ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के जिन आतंकिओं की मदद की थी, उनका मंसूबा 26 जनवरी के दिन गणतंत्र दिवस परेड के दौरान आतंकी हमला करने की थी। एनआईए से पूछताछ में DSP Davinder Singh और उनके साथियों ने यह बात कबूली है। उनके मुताबिक, जम्मू के अलावा राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और चंडीगढ़ में हमलों की प्लानिंग थी। इस काम को अंजाम देने के लिए कुछ और आतंकियों को भी शामिल किया जाना था। हालांकि DSP Davinder Singh की गिरफ्तारी के साथ ही इस बड़ी साजिश का भंडाफोड़ हो गया।

DSP Davinder Singh को आज लाया जा सकता है दिल्ली

केंद्रीय गृहमंत्रालय ने DSP Davinder Singh का केस पहले ही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दिया था। एनआईए की टीम मंगलवार को ही जम्मू पहुंच गई थी और DSP Davinder Singh से पूछताछ शुरू कर दी थी। रिपोर्ट के मुताबिक, आगे की पूछताछ के लिए DSP Davinder Singh को बुधवार के दिन दिल्ली लाया जा सकता है।

आतंकियों के साथ पकड़े जाने के बाद पुलिस ने DSP Davinder Singh के जम्मू स्थिति घर पर छापा मारा था जहां से राइफल और हथगोले मिले थे। इसके बाद ही जांच अधिकारियों ने आशंका जताई कि दिल्ली के भीड़भरे इलाकों और खासतौर पर गणतंत्र दिवस परेड के दौरान हमला हो सकता है।

शुरुआती जांच में पता चला है कि DSP Davinder Singh लंबे समय से आतंकियों की मदद कर रहे थे। उसने आतंकियों से 12 लाख रुपए भी लिए थे। फिलहाल यह पता नहींं चला है कि यह राशि किस काम के लिए ली गई, लेकिन शुरुआती जांच में यह लग रहा है कि वह आतंकियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने के लिए अपनी पॉजिश का इस्तेमाल करता था। पूछताछ जारी है और DSP Davinder Singh को लेकर आज भी कुछ खुलासे हो सकते हैं।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020