Delhi School Reopening: राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामलों में काफी गिरवाट आई है और नये मामलों की संख्या 100 से भी कम हो गई है। फिर भी यहां के स्कूलों के फिर खुलने की अभी कोई संभावना नहीं है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने एक सवाल के जवाब में स्कूल खोलने की अनुमति देने से साफ इंकार किया। जब उनसे पूछा गया कि जिस तरह पड़ोसी राज्य में स्कूलों को खोलने का फैसला लिया है, क्या आप भी स्कूलों को खोलने के बारे में सोच रहे हैं? इस पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि अभी बिल्कुल नहीं। क्योंकि अंतरराष्ट्रीय ट्रेंड दिख रहा है कि थर्ड वेव आएगी, तो जब तक वैक्सीनेशन पूरा नहीं हो जाता, हम बच्चों के साथ रिस्क नहीं लेंगे।

आपको बता दें कि दिल्ली में कोरोनावायरस के नए मामलों की संख्‍या लगातार कम हो रही है, फिर भी दिल्‍ली सरकार कोई जोखिम नहीं लेना चाहती। गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 72 नए मामले सामने आए हैं और सिर्फ एक मरीज की मौत हुई है। दिल्ली में इस समय कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या 671 है, जबकि कोरोना संक्रमण दर 0.1 फीसदी है। सक्रिय कोरोना मरीजों की दर लगातार चौथे दिन 0.04 फीसदी रही और रिकवरी रेट लगातार सातवें दिन 98.2 फीसदी रही।

वैसे, हाल ही में प्रदेश को अनलॉक करने की कोशिशों के तहत दिल्ली के स्कूलों में सभागारों और असेंबली हॉल को प्रशिक्षण और बैठक के उद्देश्य से इस्तेमाल करने की अनुमति दी गई है। दिल्ली सरकार ने भी एक बयान में कहा है कि वह अब स्कूलों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को फिर से खोलने की तैयारी और योजना बना रही है।

वहीं, दिल्ली के प्राइवेट स्कूलों में पढ़ रहे ऐसे छात्र जो अब अपना नाम कटवा कर सरकारी स्कूलों में दाखिला लेना चाहते हैं, उन्हें स्कूलों से ट्रांसफर सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। दिल्ली के सरकारी स्कूलों में बिना ट्रांसफर सर्टिफिकेट जमा कराए ही इन छात्रों को दाखिला दिया जाएगा। इन छात्रों का ट्रांसफर सर्टिफिकेट शिक्षा विभाग के अधिकारी अपने स्तर पर उनके स्कूलों से ले लेंगे।

Posted By: Shailendra Kumar