Nirbhaya के दोषियों की फांसी की सजा कानूनी पेंचीदगियों की वजह से टलती जा रही है। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट द्वारा दोषियों का 2 बार डेथ वारंट जारी किया जा चुका है लेकिन उन्हें फांसी नहीं हो सकी है। अब निर्भया के परिजनों ने फांसी की नई तारीख पाने के लिए दिल्ली कोर्ट में नई याचिका दायर की है। इस याचिका पर सुनवाई की जा रही है। कोर्ट के चक्कर काट-काटकर परेशान निर्भया की मां जज के सामने ही रो पड़ी। उन्होंने कहा कि मैं चक्कर काट-काटकर थक गईं हूं। इस पर जज ने उन्हें आश्वासन दिया कि आज ही मामला सुलझाएंगे।

बता दें कि निर्भया के परिजनों का कहना है कि चारों दोषियों ने कानून का मजाक बना दिया है, वे कानून से खिलवाड़ कर रहे हैं। याचिका के बाद कोर्ट ने चारों दोषियों को नोटिस जारी किया था जिस पर आज दोपहर 2 बजे सुनवाई होगी।

इसके पूर्व कोर्ट ने केंद्र सरकार की ओर से दाखिल की गई याचिका पर भी चारों दोषियों से जवाब चाहा था। बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट ने 31 जनवरी को आदेश दिया था जिसमें चारों दोषियों को एक साथ ही फांसी दी जाने की बात कही गई थी। फिलहाल चारों दोषी मुकेश कुमार सिंह, पवन, विनय और अक्षय तिहाड़ जेल में बंद हैं।

2 बार जारी हो चुका है डेथ वारंट

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट चारों दोषियों के खिलाफ 2 बार डेथ वारंट जारी कर चुकी है। इसी साल 7 जनवरी को कोर्ट ने पहली बार डेथ वारंट जारी किया था जिसमें 22 जनवरी को चारों दोषियों को सुबह 7 बजे फांसी देने का कहा गया था। इसके बाद 17 जनवरी को कोर्ट ने नया डेथ वारंट जारी करते हुए फांसी की तारीख आगे बढ़ाते हुए 1 फरवरी की थी और फांसी का वक्त सुबह 6 बजे का तय किया था। लेकिन दोषियों की ओर से कोर्ट और राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका दायर की जाने की वजह से इस दिन भी फांसी नहीं हो सकी थी।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना