Delhi LG Anil Baijal Resigns: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने कुछ "व्यक्तिगत कारणों" के कारण राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। यह जानकारी समाचार एजेंसी एएनआई ने बुधवार को सूत्रों के हवाले से दी है। 1969 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी बैजल को उनके पूर्ववर्ती नजीब जंग के इस्तीफे के बाद दिसंबर 2016 में दिल्ली के उपराज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया था। बैजल ने पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के तहत केंद्रीय गृह सचिव के रूप में भी काम किया था।

दिल्ली के उप राज्यपाल का पद इस लिहाज से भी बेहद अहम हो गया है कि दिल्ली के उच्च न्यायालय ने यह साफ कर दिया है कि दिल्ली सरकार का प्रशासनिक प्रमुख उप राज्यपाल ही है। कई मुद्दों पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल के साथ संघर्ष कर रहे थे।

केजरीवाल और उनकी आप पार्टी ने बैजल पर केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार का "एजेंट" होने का आरोप लगाया था और आरोप लगाया था कि वह दिल्ली सरकार को शहर-राज्य में "स्वतंत्र रूप से काम" करने की अनुमति नहीं दे रहे हैं।

केजरीवाल के डिप्टी मनीष सिसोदिया ने बैजल पर "दिल्ली सरकार को अस्थिर करने" का आरोप लगाते हुए एक बार कहा था, "अगर सब कुछ केंद्र के माध्यम से एलजी के माध्यम से किया जाना है, तो एक निर्वाचित सरकार की क्या आवश्यकता है। हालांकि, बैजल ने कई मौकों पर केजरीवाल सरकार के कई निर्णयों से असहमति भी जताई और अपने खिलाफ लगे आरोपों को खारिज कर दिया।

मुंडका अग्निकांड पर दिए हैं मजिस्ट्रियल जांच के आदेश

दिल्ली में 13 मई, 2022 को भयावह त्रासदी हुई थी। इसमें 27 लोगों की जिंदा जलने से मौत हो गई थी। इस हादसे पर एलजी अनिल बैजल ने अग्निकांड की मजिस्ट्रियल जांच को मंजूरी दी थी। इसे छह सप्ताह के भीतर पूरा कर लिया जाएगा। जिला मजिस्ट्रेट (पश्चिम) संबंधित विभागों और एजेंसियों की ओर से चूक की जांच करेंगे।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close