Delhi News: दिल्ली सरकार ने एक पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत की है। जिसमें वाहन खरीदने पर तुरंत की रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट यानी आरसी मिल जाएगी। यह योजना मार्च में शुरु की गई थीं। अब तक 1.44 लाख ग्राहकों को चार पहिया गाड़ी की खरीद के समय आरसी सौंपी गई। पहली रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट 17 मार्च को दी गई। इसके बाद पूरे राजधानी में यह प्रोजेक्ट लागू किया गया।

इस योजना से सेल्फ रजिस्ट्रेशन डीलर्स आरसी छापने में सक्षम हो गए। यह जानकारी राज्य के ट्रांसपोर्ट मंत्री कैलाश गहलोत ने कहीं। वह बीकाजी कामा प्लेस में एक आरसी प्रिटिंग फैसलिटी की जांच करने पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि कस्टमर्स को आरसी प्रिंटिंग के लिए अलग से कोई पैसे नहीं देने होंगे। दिल्ली में जल्द छह लाख आरसी सालाना वाहन खरीद पर दिए जाने लगेंगे।

उन्होंने कहा, 'मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जल्द इस सर्विस को जनता के लिए शुरू करेंगे।' रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट के लिए स्मार्ट कार्ड के अगले हिस्से पर वाहन मालिक का नाम होगा। जबकि पिछले भाग में माइक्रोचिप और क्यूआर कोड लगाया जाएगा। एक बार गाड़ी डेटाबेस से स्मार्ट कार्ड की जानकारी लिंह होने के बाद यूनिफिकेशन जारी किया जाएगा।

कैलाश गहलोत ने कहा कि राजधानी में कुल 263 डीलरशिप हैं। जहां तुरंत वाहन का आरसी छापने की व्यवस्था है। इस सिस्टम से ग्राहकों को आरसी के लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा। डेटा एंट्री, वेरिफिकेशन और अप्रूवल के बाद डीलर द्वारा गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट छापा जाएगा। यह प्रोजेक्ट आने वाले वक्त में अन्य प्रदेशों में लागू हो सकता है।

Posted By: Navodit Saktawat