गणतंत्र दिवस पर किसानों के ट्रेक्टर मार्च के दौरान दिल्ली में हिंसा भड़क गई। जिसकी जांच में पुलिस जुट गई है। वहीं राजधानी के पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने पुलिस कर्मियों को एक चिट्ठी लिखी है। उन्होंने लिखा है कि किसान आंदोलन के उग्र व हिंसक हो जाने पर भी आपने अत्यंत संयम और सूझबूझ का परिचय दिया है। हमारे पास बल प्रयोग का विकल्प था लेकिन हमने ऐसा नहीं किया। कमिश्रर श्रीवास्तव ने लिखा, इस आचरण से दिल्ली पुलिस चुनौतीपूर्ण आंदोलन से निपट पाई। हम सब इस प्रकार चुनौतियों का सामना करते आए हैं। उन्होंने लिखा है कि आपकी मेहनत और कार्य कुशलता से ही किसान आंदोलन की चुनौती का डट कर मुकाबला कर पाए हैं। किसान आंदोलन में हुई हिंसा में हमारे 394 साथी घायल हुए हैं। कुछ का इलाज अस्पताल में अभी भी चल रहा है। उन्होंने आगे लिखा कि मैंने खुद कुछ घायल साथियों से अस्पताल में जाकर हाल चाल जाना है।

दिल्ली पुलिस उनके अच्छे स्वास्थ्य और उपचार के लिए प्रतिबद्ध हैं। कमिश्नर ने लिखा, मैं बतलाना चाहता हूं कि आगे आने वाले कुछ दिन हमारे लिए काफी चुनौतीपूर्ण हो सकते हैं। हमे सचेत रहने की आवश्यकता है। हम सबको अपना धैर्य और अनुशासन बनाए रखना है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags