Delhi-Mumbai Expressway: दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पूरा होने पर इन दोनों शहरों के बीच यात्रा का समय 24 घंटों से घटकर 13 घंटे रह जाएगा। इससे इन दोनों शहरों के बीच की दूरी भी 150 किलोमीटर कम हो जाएगी। 1 लाख करोड़ की लागत वाले इस प्रोजेक्ट का काम तेजी से चल रहा है और इसके 2023-24 तक पूरा होने की उम्मीद है।

भारतमाला परियोजना के तहत यह आठ लेन का 1261 किमी लंबा एक्सप्रेसवे बनाया जा रहा है। अभी इसके 497 किमी हिस्से पर काम चल रहा है। इसके अलावा 162 किमी के एक अन्य हिस्से पर काम शुरू करने का टेंडर जारी किया जा चुका है। इसके अलावा 569 किमी के हिस्से के लिए बोली की प्रक्रिया जारी है। इस एक्सप्रेसवे का निर्माण इंजीनियरिंग, प्रोक्यूरमेंट और कंस्ट्रक्शन के जरिए किया जा रहा है। इसके पूरे होने पर मुंबई और दिल्ली के बीच की दूरी 150 किमी कम हो जाएी और यात्रा का समय भी 11 घंटे कम (24 घंटो की बजाए 13 घंटे) हो जाएगा।

इन राज्यों से गुजरेगा यह एक्सप्रेसवे:

हरियाणा, राजस्थान, मध्यप्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र से होकर गुजरने वाले इस एक्सप्रेसवे से जयपुर, कोटा, चित्तौड़गढ़, इंदौर, उज्जैन, भोपाल, अहमदाबाद और बड़ौदा की कनेक्टिविटी आसान हो जाएगा। दूरी और समय कम होने की वजह से आर्थिक लाभ होगा। मालढुलाई भी 8-9 प्रतिशत कम होगी। इसे इस तरह डिजाइन किया गया है कि इस पर 120 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से यातायात हो सके। इसे भविष्य में 12 लेन का किया जा सकता है।

सड़क व परिवहन मंत्रालय के अनुसार इस एक्सप्रेसव से हर साल करीब 32 करोड़ लीटर पेट्रोल-डीजल की बचत होगी। इसके चलते हर साल 85.7 करोड़ किलो कार्बन उर्त्सजन कम होगा।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना