ओमिक्रोन की दहशत के बीच देश को बड़ी राहत मिली है। बेंगलुरु में कोरोना से संक्रमित पाए गए दो दक्षिण अफ्रीकी नागरिकों में ओमिक्रोन नहीं मिला है। दोनों के वायरस के डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है जो कम संक्रामक नहीं है। वैसे पूरे देश में भी कोरोना के समग्र हालात में राहत मिलती नजर आ रही है। संक्रमण के नए मामले 10 हजार से नीचे बने हुए हैं। बेंगलुरु ग्रामीण जिले के अधिकारियों ने बताया कि दोनों दक्षिण अफ्रीकी नागरिक डेल्टा से संक्रमित पाए गए हैं। इनमें से एक को 11 नवंबर को और एक को 20 नवंबर को कोरोना से संक्रमित पाया गया था, जिसके बाद देश में ओमिक्रोन वैरिएंट को लेकर दहशत फैल गई थी। हालांकि, ओमिक्रोन को लेकर पूरे देश में विशेष चौकसी बरती जा रही है और केंद्र सरकार ने पहले ही बाहर खासकर अफ्रीकी और कुछ अन्य देशों से आने वाले लोगों की जांच के निर्देश दिए हैं।

ओमिक्रोन की दहशत के बीच संक्रमण के मामलों में कमी बनी हुई है। पिछले 24 घंटे के दौरान देश में 8,774 नए मामले मिले हैं और 621 मौतें हुई हैं, जिनमें 554 मौतें अकेले केरल से हैं। इस दौरान सक्रिय मामलों में भी हजार से ज्यादा की कमी आई है और इनकी संख्या 1,05,691 रह गई है जो कुल मामलों का 0.31 प्रतिशत और 543 दिन में सबसे कम है। दैनिक संक्रमण दर 55 दिनों से दो प्रतिशत से नीचे बनी हुई है। केंद्र ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अब तक कोरोना रोधी वैक्सीन की 135 करोड़ डोज मुहैया कराई हैं। कोविन पोर्टल के शाम छह बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक अब तक 122.38 करोड़ डोज लगाई जा चुकी हैं। इनमें से 78.49 करोड़ लोगों को पहली और 43.89 करोड़ लोगों को दोनों डोज दी गई हैं।

Posted By: Navodit Saktawat