रोहतक। हरियाणा के रोहतक में ड्रोन के दुरुपयोग का अजीब मामला सामने आया है। यहां के महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (एमडीयू) के गर्ल्स हॉस्टल कांप्लेक्स के ऊपर रात को दो ड्रोन मंडराने से जहां सुरक्षा में सेंध लग गई है, वहीं छात्राओं की निजता को भी खतरे में डाल दिया है। इसक बाद भड़कीं छात्राओं ने गुरुवार आधी रात को हॉस्टल के गेट पर धरना दे दिया। विश्व विद्यालय प्रशासन ने छात्राओं को समझाकर धरना खत्म कराया।

छात्राओं का आरोप है कि गुरुवार रात को हॉस्टल की खिड़की तक ड्रोन पहुंच गए थे। इससे उनकी निजता खतरे में है। सहमी छात्राओं ने रात में ही हॉस्टल अधिकारियों से इसकी शिकायत की। अधिकारियों का सुस्त रवैया देख वे कुलपति से मिलने उनके निवास पर पहुंचीं। लेकिन वहां तैनात सुरक्षाकर्मी ने अंदर नहीं जाने दिया।

हंगामा बढ़ा तो सूचना के बाद रात करीब 12 बजे कुलसचिव गुलशन लाल तनेजा कुलपति आवास पर पहुंचे और छात्राओं को सुरक्षा का भरोसा दिलाया। कुलपति से मुलाकात नहीं होने पर छात्राओं ने रातभर विवि के मुख्य गेट पर धरना दिया। उन्होंने कहा कि जब तक पुख्ता जांच के साथ ही बेहतर सुरक्षा इंतजाम नहीं किए जाते, वे हर रात ऐसे ही धरना देंगी।

पूरे मामले पर एमडीयू गर्ल्स हॉस्टल के चीफ वार्डन प्रो. राजेश धनखड़ का कहना है कि छात्राओं की सुरक्षा हमारे लिए सबसे पहले है। रात के समय हॉस्टल में सुरक्षाकर्मियों की संख्या बढ़ा दी गई है। अभी ड्रोन दिखाई देने की बात पर ज्यादा कुछ नहीं कहा जा सकता। पहले भी इस विषय पर जांच कर चुके हैं, लेकिन ऐसा कुछ सामने नहीं आया।