ED Raid Vivo: प्रवर्तन निदेशायल (ईडी) ने आज (मंगलवार) चीनी मोबाइल कंपनी वीवो और इससे जुड़ी कंपनियों पर छापेमारी की। ईडी ने मनी लांड्रिंग से जुड़े मामले में जांच के लिए देशभर में 40 से ज्यादा जगहों पर तलाशी ली। यह कार्रवाई प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट (PMLA) के तहत हो रही है। ये छापे उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार और दक्षिणी राज्यों में मौजूद कंपनी के ठिकानों पर हुए। जांच एजेंसी के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इससे पहले ईडी ने Xiaomi की संपत्ति को जब्त कर लिया था।

जानिए पूरा मामला?

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने जम्मू-कश्मीर की एजेंसी के एक डिस्ट्रीब्यूटर के खिलाफ केस दर्ज किया था। जिसके बाद प्रवर्तन निदेशायल ने मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज किया। आरोप लगाया कि कंपनी के कुछ शेयरहोल्डर्स ने नकली दस्तावेज बनवाए हैं। ईडी को शक है कि फर्जी तरीके से पैसों की हेराफेरी की गई है। इसमें से कुछ पैसों को विदेश भेजा गया, या अन्य कारोबार में निवेश किया गया है।

एक ही आईएमईआई के 13,500 स्मार्टफोन

साल 2020 में वीवो को बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ था। देशभर में एक ही आईएमईआई नंबर के 13,500 स्मार्टफोन का पता चला था। इस मामले में मेरठ पुलिस ने केस दर्ज किया था। बता दें इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी 15 अंकों का एक नंबर होता है, जो हर मोबाइल के लिए अलग-अलग होता है।

शाओमी पर हो चुकी कार्रवाई

इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय ने फेमा के तहत शाओमी की संपत्ति को जब्त कर लिया था। ईडी ने विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) 1999 के प्रावधानों के तहत स्मार्टफोन कंपनी शाओमी इंडिया के 5,551.27 करोड़ रुपए जब्त किए थे। जांच एजेंसी ने इस साल फरवरी में कंपनी द्वारा किए गए अवैध प्रेषण के संबंध में जांच शुरू की थी।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close