Lockdown के चलते देश में कोरोना संक्रमण पर लगाम लगी है। यह समय पर घोषित नहीं होता तो आज देश में संक्रमितों का आंकड़ा बहुत ज्‍यादा होता। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का यह कहना है। शुक्रवार को स्‍वास्‍थ्‍य और गृह मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि देश के 15 जिलों में 28 दिनों में कोराना वायरस का नया मामला नहीं आया है। वहीं देश के 80 जिले हैं जहां पिछले 14 दिनों से कोई मामला नहीं आया है। पिछले 24 घंटों में COVID19 के 1684 पॉजिटिव केस सामने आए हैं जो हमारे कुल पुष्टि मामले को 23,077 तक ले जाता है। कल से आज तक 491 लोग ठीक हुए हैं, ठीक होने वालों की कुल संख्या 4748 हो गए हैं, अब हमारा रिकवरी रेट 20.57% है। हमारी रिकवरी दर 20.57% है। उन्‍होंने कहा कि हम कोरोना वायरस के कम्‍युनिटी ट्रांसमिशन (सामुदायिक प्रसार) की जांच करने के लिए जिला, राज्य स्तरों पर सामुदायिक निगरानी को लागू कर रहे हैं।

गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव है पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने कहा कि जो क्षेत्र कंटेंनमेंट या हॉट स्पॉट नहीं है वहां 20 अप्रैल से कुछ गतिविधियों की अनुमति दी गई है, लेकिन गलत व्याख्या की वजह से आशंका थी कि फैक्ट्री में कोविड केस मिलने पर फैक्ट्री के CEO को सजा हो सकती है या फैक्ट्री 3 महीने के लिए सील हो सकती है। इसलिए कल गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को पत्र लिखकर स्पष्ट किया है कि 15 अप्रैल को जारी दिशानिर्देशों में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस