बरेली। प्रतिबंधित संगठन इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) प्रदेश में दहशत फैलाने की फिराक में हैं। आईएम के रांची स्थित बेस कैम्प से गत दिनों फरार हुए आतंकियों में आठ उत्तर प्रदेश के हैं। इनके प्रदेश में छिपे होने की आशंका ने खुफिया विभाग और पुलिस की नींद उड़ा दी है। सेंट्रल आइबी से मिले इनपुट के बाद लखनऊ, बरेली सहित सभी संवेदनशील जिलों में अलर्ट भेजा गया है। पुलिस स्लीपिंग मॉड्यूल की तलाश में जुटी है।

निशाने पर 10 शहर

प्रदेश में लश्कर-ए-तैयबा, आईएसआईएस, आईएम, जमात उद-दावा जैसे प्रतिबंधित संगठनों की मौजूदगी पहले भी साबित हुई है। सूत्रों के अनुसार गत दिनों झारखंड की राजधानी रांची में इंडियन मुजाहिदीन के बेस कैम्प (शरणस्थल) से कुछ आतंकियों के भाग निकलने की सूचना राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और एटीएस को मिली थी। इनमें आठ आतंकी उत्तर प्रदेश के हैं। सहारनपुर, बरेली, मेरठ, मुजफ्फरनगर, लखनऊ, कानपुर, वाराणसी आदि लगभग 10 शहरों में किसी वारदात को अंजाम दे सकते हैं।

आइईडी और मैग्नेट बम से लैस

आतंकी संगठनों के जखीरे में केवल अत्याधुनिक और स्वचालित हथियार ही नहीं ग्रेनेड और बम भी हैं। आतंकी संगठनों के पास एक्सप्लोसिव डिवाइस (आइईडी), मैग्नेट बम आदि तबाही मचाने का सामान भी है।

चौकसी बढ़ाने के निर्देश

खुफिया विभाग के अलर्ट के अनुसार ये दहशतगर्द रमजान के पाक महीने में अनहोनी कर सकते हैं। प्रमुख धार्मिक स्थलों, रेलवे स्टेशन, बस अड्डा, व्यस्त बाजार और महत्वपूर्ण इमारतों पर चौकसी बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

आतंकी संगठनों की गतिविधि और फरार हुए आतंकियों के बारे में अलर्ट आया है। जोन के सभी पुलिस अधीक्षकों को चौकसी बरतने के निर्देश दिए हैं।

-विजय सिंह मीना, आइजी बरेली जोन

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket