नई दिल्ली। भारत और फ्रांस के बीच लड़ाकू विमान राफेल की खरीद को लेकर लंबे समय से चल रही वार्ता को गति देने के लिए एक फ्रांसीसी प्रतिनिधिदल इस माह भारत दौरे पर आ रहा है।

2012 में भारत ने फ्रांस के राफेल लड़ाकू विमान को खरीदने के लिए चुना था, लेकिन रक्षा मंत्रालय और विमान के निर्माता डजाल्ट एविएशन के बीच अंतिम वार्ता अब भी चल रही है।

अगर वार्ता को अंतिम रूप दिया जा सका तो फ्रांस के साथ अरबों डालर के 126 राफेल विमानों की खरीद का रास्ता साफ हो जाएगा। दूसरी ओर भारत रूस निर्मित लड़ाकू विमानों सिखोई-30 की और खरीद के विकल्प पर भी विचार कर रहा है।

अपने फ्रांसीसी समकक्ष से पिछले माह दिसंबर में हुई बातचीत पर रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने कहा कि राफेल की खरीद को लेकर वार्ता चल रही है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना