EPFO Alert: प्राइवेट सेक्टर में काम कर रहे कर्मचारियों को जून के महीने में PF अकाउंट से आधार कार्ड लिंक करना जरूरी हो गया है। EPFO के नियमों में हुए बदलाव से देश के 6 करोड़ कर्मचारी प्रभावित होंगे। जिन प्राइवेट कर्मचारियों ने अभी तक अपने PF अकाउंट से आधार कार्ड लिंक नहीं किया है, उनको अब EPF का पैसा नहीं मिलगा। EPFO ने Social Security code 2020 के सेक्‍शन 142 में बदलाव कर ECR फाइलिंग प्रोटोकॉल बदल दिया है। अब प्राइवेट कर्मचारियों के लिए PF खाते के Universal account number को Aadhaar कार्ड से जोड़ना जरूरी है।

डेलॉइट इंडिया की पार्टनर सरस्वती कस्तूरीरंगन ने बताया कि कंपनियां 1 जून 2021 के बाद उसी कर्मचारी की ECR फाइल कर पाएंगी जिसके UAN से Aadhaar लिंक होगा। जिन कर्मचारियों का अकाउंट उनके आधार कार्ड से लिंक नहीं है। उनका ECR कार्ड आधार कार्ड लिंक होने के बाद अलग से फाइल किया जाएगा। अगर आपके पीएफ एकाउंट में आधार नंबर अपडेट नहीं है, तो जल्द ही इसे अपडेट करा लें।

कैसे लिंक करें आधार कार्ड

PF अकाउंट में आधार जोड़ने के लिए epfindia.gov.in पर जाएं और कर्मचारियों के लिए दिए गए टैब पर ‘UAN Member e-Sewa’ का विकल्प चुनें। अब अपनी UAN आईडी और पासवर्ड के जरिए लॉगइन करें। इसके बाद मैनेज टैब में जाकर KYC का विकल्प चुनें। अब आप नए पेज पर पहुंच जाएंगे, जहां आपसे कई डॉक्यूमेंट मांगे जाएंगे। सभी डॉक्यूमेंट अपलोड करने के बाद आधार का विकल्प चुनें और उसे सेव कर दें। अब आपका आधार नंबर ओटीपी के जरिए वेरिफाई किया जाएगा। अब जैसे ही आपकी कंपनी और सरकार सारी जानकारियों को सत्यापित कर देगी वैसे ही आपका आधार कार्ड आपके PF खाते से लिंक हो जाएगा।

क्या कहता है नया सिक्योरिटी कोड

नए सिक्योरिटी कोड के तहत हर कर्मचारी को अपना आधार कार्ड PF खाते के साथ जोड़ना जरूरी है। ताकि सरकार और आपकी कंपनी यह पहचान कर सकें कि EPFO का लाभ लेने वाला व्यक्ति कौन हैं। अनंत लॉ के पार्टनर सुबोध सदाना ने कहा कि सोशल सिक्योरिटी कोड 2002 को आसानी से लागू करने के लिए यह कदम उठाया गया है। एक बार इस नियम के लागू होने के बाद उन कर्मचारियों को PF का पैसा मिलना बंद हो जाएगा, जिनका अकाउंट आधार के साथ लिंक नहीं है। PF अकाउंट से आधार कार्ड लिंक होने के बाद ही यह पैसा फिर से मिलना शुरू होगा।

Posted By: Arvind Dubey