EPFO (कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन), ESIC (कर्मचारी राज्‍य बीमा निगम) PIB (प्रेस इंफॉर्मेशन ब्‍यूरो) और Ministry Of Labour (केंद्रीय श्रम मंत्रालय) ने अपने ताजा फैसलों में आम जनता को बड़ी राहत देने वाले ऐलान किए हैं। इन घोषणाओं से देश के लाखों कर्मचारियों, सदस्‍यों को फायदा होगा। इसमें PF खाते में बैलेंस चेक करना, पैसे की निकासी करने संबंधी प्रक्रिया, ESIC में रजिस्‍टर्ड सदस्‍यों के लिए चिकित्‍सा संबंधी नई योजनाओं, सुविधाओं की जानकारी, कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए उपाय, कोरोना संबंधी अफवाहों का खंडन और फैक्‍ट चेक, तथ्‍यपूर्ण जानकारी, UAN जारी करने एवं इससे जुड़ी अहम सूचना, ईएसआईसी अस्‍पतालों की सेवाएं बहाली की तारीख, रजिस्‍टर्ड सदस्‍यों को मिलने वाले कैश बेने‍फिट की जानकारी, ESIC द्वारा तय किए गए कोविड-19 अस्‍पतालों में इलाज संबंधी उठाए गए मुख्‍य कदम आदि अनेक घोषणाओं की विस्‍तृत जानकारी शामिल है। नीचे देखें डिटेल और इन योजनाओं का लाभ लें।

ये हैं मुख्‍य घोषणाएं

- EPFO ने अपने कर्मचारियों एवं सदस्‍यों के लिए 'Pandemic advance facility' की शुरुआत की है। इसकी अधिक जानकारी नीचे देखें।

- ईएसआईसी केंद्र को सभी चिकित्सा उपकरणों और अन्य सुविधाओं से पूरी तरह सुसज्जित करने की व्यवस्था कर रहा है।

- सरकार ने अहम घोषणा की है कि 10 से कम कर्मचारियों वाले संभावित रूप से खतरे के स्‍थान वाले उद्योगों में कर्मचारियों को ईएसआईसी के तहत कवर करना होगा। केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचना के माध्यम से इसे अनिवार्य किया गया है।

- अक्टूबर, 2019 से मार्च, 2020 तक ईएसआईसी के योगदान अवधि के लिए नियोक्ताओं को योगदान जमा करने के लिए अब 11.06.2020 तक करने की अनुमति दी गई है।

- ईएसआईसी अस्पतालों की सेवा पुनः आरम्भ हो चुकी है। ऐसे ईएसआईसी अस्पताल और डिस्पेन्सरी जो कोविड-19 के इलाज से संबंधित नहीं हैं और कोविड-19 महामारी के कारण जिनकी सेवाओं में कटौती की गई थी, उनकी सभी बाधित सेवाओं को दिनांक 5 मई 2020 से पुनः आरम्भ कर दिया गया है।

- ईएसआईसी अस्पताल, कांदिवली, मुंबई को नए वेंटिलेटर और मॉनिटर प्राप्त हुए हैं। COVID-19 रोगियों के लिए इलाज की सुविधा प्रदान करने के लिए, ESIC अस्पताल, कांदिवली (मुंबई) ने नए वेंटीलेटर और मॉनिटर्स आदि की खरीद की है।

- EPFO ने कंपनियों से कहा है कि वे कृपया फेसबुक और ट्विटर खाते बनाएं और कर्मचारियों को फेसबुक और ट्विटर पर अपनी शिकायतों को प्रस्‍तुत करने के लिए प्रोत्साहित करें। वे कृपया ऐसे प्रश्नों का तुरंत उत्तर दें और उनकी शिकायतों का समाधान करें।

- ईपीएफओ ने कम वेतन अर्जित करने वाले ईपीएफ सदस्य और 100 कर्मचारियों तक की संख्‍या वाले संस्‍थानों के लिए प्रधान मंत्री गरीब कल्याण पैकेज का संचालन किया।

- PIB ने बताया है कि फल खरीदते समय कुछ बातों का ध्यान रखें जैसे कि फल ताज़े हों, मौसमी और स्थानीय फल हों, गहरे दाग-धब्बे रहित हों, फल पके हों पर गले हुए न हों।

- प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना (पीएमजीकेवाई) PMGKY योजना के तहत लाभों की पूर्ति प्राप्त क रने की ऑनलाइन प्रक्रिया मार्च, 2020 तक की गई थी। इसके लिए ऑनलाइन प्रक्रिया को दर्शाया गया है।

यहां देखें विस्‍तार से

केंद्र सरकार ने जनहित में कुछ बेहद जरूरी सूचनाएं जारी की हैं। इसमें Indian Railways, IRCTC, CoronaVirus, Aarogya setu app से जुड़े तमाम सवालों के जवाब दिए गए हैं। पिछले दिनों सरकार ने देश में क्रमवार ट्रेनों को चलाने की घोषणा की थी, उसके बाद से ही लोगों के मन में कई जिज्ञासाएं थीं। इसे लेकर भी विस्‍तार से एक-एक बात स्‍पष्‍टता से बताई गई है। कोरोना वायरस महामारी को लेकर बकायदा विशेषज्ञ डॉक्‍टरों की ओर से जनहित में परामर्श उपलब्‍ध कराया गया है। ये सूचनाएं ऑल इंडिया रेडियो All India Radio News के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से जारी की गईं हैं। आप भी इन जानकारियों को पढ़ें, समझें, इन्‍हें अपनों के साथ शेयर करें और लाभ लें।

भारतीय रेल और राज्य सरकारों ने मिलकर आगामी 10 दिनों के लिए एक शेड्यूल बनाया है और इसके लिए 2600 ट्रेनें चलाई जाएंगी। इसमें 36 लाख यात्री यात्रा कर पाएंगे। यदि किसी भी स्टेशन से ज्यादा संख्या में प्रवासी अपने घर जाना चाहेंगे तो उनके लिए भी ट्रेन सेवा उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्‍होंने बताया कि अधिकांश ट्रेनों को उत्‍तर प्रदेश, बिहार, मध्‍य प्रदेश, झारखंड के लिए चलाया गया है। पश्चिम बंगाल के लिए काफी कम ट्रेनें चलाईं गईं है। उन्होंने सिर्फ 105 ट्रेनों के लिए अनुमति प्रदान की है।

अब तक 2600 से अधिक विशेष ट्रेनें चली हैं, 35 लाख से अधिक प्रवासियों ने इन ट्रेनों का फायदा उठाया है। श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की संख्या अब रोजाना 200 से अधिक हो गई है। 1 जून से रेलवे और भी स्पेशल ट्रेन चलाएगा, जिसके लिए 14 लाख बुकिंग अभी तक हो चुकी हैं। 1 जून से 200 और स्पेशल ट्रेनें चलाने का निर्णय किया गया है।

कुछ स्‍पेशल ट्रेनों में बर्थ की क्षमता की सिर्फ 30 फीसद ही बुकिंग हुई है, हालांकि कुछ ट्रेनों में 100 फीसद सीटें बुक हो चुकी हैं। अभी भी 190 ट्रेनों की उपलब्धता है। इस दौरान यह शिकायत आ रही थीं कि श्रमिक भाई बुकिंग नहीं कर पा रहे हैं, इसलिए टिकट काउंटर खोलने का भी निर्णय किया गया है। जरूरत पड़ी तो 10 दिन के बाद भी ट्रेनें शेड्यूल की जाएंगी।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना