EPF खाताधारकों के लिए यह जरूरी सूचना है क्‍योंकि यह निजी जानकारी एवं डेटा की सुरक्षा से जुड़ा मामला है। EPFO कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employees' Provident Fund Organistaion) ने नौकरीपेशा लोगों के लिए एक अलर्ट जारी किया है। इसमें बताया है कि अगर कोई आपसे किसी काम के एवज में बैंक में धनराशि जमा कराने को कहता है तो सावधान हो जाएं। उनके झांसे में आकर आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। ईपीएफओ ने मुख्‍य तौर पर एसएमएस (SMS), सोशल मीडिया (Social Media), ई-मेल (E-mail), फेक ऑफर्स (Fake Offers) वेबसाइट्स (Websites) और टेली कॉल्स (Tele Calls) से अपने ग्राहकों को चेताया है।

EPFO ने अपने ऑफिशियल अकाउंट से ट्वीट करते हुए बताया है कि अगर कोई भी व्‍यक्ति या संस्‍था आपसे क्‍लेम सेटलमेंट, ऑफर्स, एडवांस भुगतान, अधिक पेंशन राशि प्राप्ति या अन्‍य सेवाओं के लिए आपको बैंक में धनराशि जमा कराने को कहता है तो इस बात से सतर्क हो जाएं। EPFO ने Fake News फेक न्‍यूज से भी अपने खाताधारकों को आगाह किया है।

ये जानकारियां देने से बचें

EPFO की अपील के अनुसार खाताधारकों को अपना पैन कार्ड नंबर, आधार नंबर, बैंक का विवरण सहित निजी जानकारी जैसे जन्‍म तारीख, पता आदि कोई भी सूचना फोन पर ना बताई जाए। PF खाताधारकों को अपना यूएएन यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) नंबर भी किसी को नहीं बताना चाहिये। EPFO ने स्‍पष्‍ट रूप से कहा भी है कि हम अपने ग्राहकों से कभी भी फोन पर पैन नंबर, आधार नंबर या बैंक से जुड़ी जानकारी नहीं मांगते। यदि EPFO के हवाले से कोई ये जानकारियां मांगता है तो वह फ्रॉड कॉल हो सकता है। ऐसी स्थिति में खाताधारक अपनी निजी जानकारी ना दें।

फ्रॉड का शिकार होने पर यहां दर्ज करें शिकायत

यदि आप ऐसे किसी फेक कॉल का शिकार हो जाते हैं तो तो आप भारत सरकार के श्रम मंत्रालय (Ministry of Labour and Employment) के सोशल मीडिया प्‍लेटफार्म के माध्‍यम से अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। प्राप्‍त शिकायतों के आधार पर मंत्रालय ईपीएफओ को आवश्‍यक कार्यवाही के लिए निर्देशित करता है। इसके अलावा आप EPFO से सीधे संपर्क करके भी शिकायत कर सकते हैं। इसके लिए EPFO के टोल फ्री नंबर 1800118005 पर शिकायत दर्ज कराएं। लोगों की सुविधा के लिए यह नंबर 24 घंटे चालू रहता है।

मिस्‍ड कॉल देकर पता करें PF बैलेंस

अपने खाताधारकों के लिए EPFO ने यह सुविधा भी दी है कि वे एक मिस्‍ड कॉल देकर अपना पीएफ बैलेंस पता कर सकें। इसके लिए खाताधारक को अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 011-22901406 पर मिस कॉल देना होगा। इसके बाद मोबाइल पर एक मैसेज आएगा, जिसमें पीएफ में जमा राशि का उल्‍लेख होगा।

सोशल मीडिया अकाउंट से भी संपर्क संभव

EPFO से संपर्क करने के लिए यूजर्स सोशल मीडिया का भी उपयोग कर सकते हैं। अपने करीब 6 करोड़ खाताधारकों के लिए EPFO समय-समय पर सुविधाएं उपलब्‍ध कराता है। इस बड़ी तादाद में 12 लाख एंपलायर यानी नियोक्‍ता एवं 65 लाख पेंशनर्स भी शामिल हैं। यदि आप EPFO के खाताधारक हैं तो आप फेसबुक, ट्विटर पर जाकर इससे संपर्क कर सकते हैं।

EPFO कर्मचारी भविष्य निधि संगठन में लगभग हर कर्माचारी का अंशदान कटता है और आपकी मेहनत की कमाई यहां जमा होती है। कई बार इसी कमाई का छोटा सा हिस्सा लेना आपके लिए काफी परेशानी भरा साबित होता है। वहीं अक्सर देखा जाता है कि लोगों को EPFO के बदले नियमों और सुविधाओं की जनकारी नहीं होती जिस वजह से उन्हें परेशान होना पड़ता है।

लेकिन अब ऐसा नहीं होगा, ऑनलाइन के साथ ही EPFO ने कर्माचारियों के लिए एक ऐसी सुविधा शुरू की है जिससे किसी विशेष नहीं बल्कि EPFO के 4.5 करोड़ सदस्यों को फायदा पहुंचेगा। इस सुविधा के बारे में आपको शायद ही पता हो लेकिन इसकी वजह से आपकी समस्याओं का समाधान बिना किसी दिक्कत के हो जाएगा।

इसका ज्यादा फायदा उन पेंशनर्स Pensioners को होगा जो बार-बार पीएफ ऑफिस के चक्कर नहीं लगा सकते। हम बात कर रहे हैं EPFO द्वा शुरू की गई ‘निधि आपके निकट’ (Nidhi Apke Nikat) सुविधा कि जिसका फायदा EPFO Pensioners और सदस्यों को होगा।

यह सुविधा हर महीने की 10 तारीख को आपके करीब उपलब्ध होगी। EPFO द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, ईपीएफओ हर महीने की 10 तारीख को अपने हर क्षेत्रीय कार्यलय में ‘निधि आपके निकट’ (Nidhi Apke Nikat) प्रोग्राम का आयोजन करता है।

इसमें आपको अपनी समस्याओं का समाधान मिलेगा। अगर किसी महीने की 10 तारीख को छुट्टी होती है तो उसके अगले कार्यदिवस के दिन यह आयोजन किया जाएगा। ‘निधि आपके निकट’ (Nidhi Apke Nikat) के दौरान पेंशनर्स या कर्मचारी विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से सीधे बात कर सकते हैं और अपनी समस्या का समाधान मांग सकते हैं।

अधिकारी समस्याओं को सुनकर उनके समाधान की प्रक्रिया शुरू करेंगे। EPFO की इस सुविधा का मकसद है कि सभी हितधारकों को एक प्लेटफॉर्म पर लाया जाए और उन्हें ईपीएफओ द्वारा की जा रही नई पहलों के बारे में जानकारी दी जा सके।

Posted By: Navodit Saktawat