EPFO Latest News: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने कोरोना काल में काफी बदलाव किए हैं। अपने सदस्य खाताधरकों की कई सुविधा को सरल कर दिया है। कोविड महामारी के कारण कई कर्मचारियों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। ऐसे में ईपीएफओ ने उन्हें एडवांस राशि और इलाज के लिए पैसे दिए। इस बीच संस्थान ने अपने सदस्यों के लिए ई-नॉमिनेशन की सर्विस शुरू की है। अब वह जब चाहें अकाउंट में नॉमिनी को ऑनलाइन बदल सकते हैं।

एनओसी की जरूरत नहीं पड़ेगी

ईपीएफओ के सदस्य अब नामित की जानकारी और फोटो सेवा पोर्टल पर अपलोड कर सकते हैं। फिलहाल खाताधारकों को नियोक्ता के पास जाकर का ब्योरा दर्ज कराना पड़ता है। इसमें अधिक समय लगता था। नॉमिनी बदलने के लिए मेंबर्स को नियोक्ता से एनओसी लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। यह सुविधा उन्हीं अंशधारकों को मिलेगी, जिनके यूएएन के साथ आधार कार्ड लिंक है।

100 फीसद ई-नॉमिनेशन का टारगेट

नॉमिनी बदलने का अधिकार मिलने के बाद अंशधारक अपनी सुविधा अनुसार किसी को भी दावा भुगतान लेने के लिए नामित कर सकते हैं। कर्मचारी की असमय मौत पर नॉमिनी को सरलता से रकम मिल जाएगी। ईपीएफओ ने इसके लिए 100 फीसद अकाउंट में ई-नॉमिनेशन का टारगेट रखा है।

ईपीएफओ कर रहा जागरूक

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ई-नामिनेशन के लिए जागरूक कर रहा है। डिजिटल इंडिया के तहत ई-क्लेम जरूरी है। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत सदस्यों को समस्या से मुक्ति के लिए मुहिम चलाई जा रही है। हर दिन विशेष कार्यक्रम समाधान के जरिये शिकायतों का समाधान किया जा रहा है।

Posted By: Navodit Saktawat