नई दिल्ली। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अपने सभी सक्रिय खाताधारकों को 15 अक्टूबर से स्थायी खाता नंबर जारी करेगा। यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) नाम से जारी होने वाला यह खाता नंबर कोर बैंकिंग सेवाओं की तरह सुविधा उपलब्ध कराएगा। यह नंबर मिलने पर कर्मचारियों को नौकरी बदलने पर अपना पीएफ खाता ट्रांसफर करवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

ईपीएफओ की चालू वित्त वर्ष के लिए निर्धारित की गई कार्ययोजना में कहा गया कि मौजूदा सदस्यों को 15 अक्टूबर 2014 से यूएएन जारी किए जाएंगे। इसके बाद अन्य सदस्यों को यह नंबर उपलब्ध कराए जाएंगे। यूएएन जारी होने के बाद सदस्यों को कंपनी बदलने पर नए पीएफ अकाउंट नंबर जारी नहीं किए जाएंगे। इससे असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को बड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। इस क्षेत्र में खासकर निर्माण क्षेत्र में कर्मचारियों को जल्दी-जल्दी नौकरी बदलनी पड़ती है।

यूएएन जारी होने पर कर्मचारियों के पास विभिन्न कंपनियों में काम करने के बावजूद अपने पूरे सेवाकाल के लिए एक खाता नंबर बना रहेगा। ईपीएफओ द्वारा संचालित की जाने वाली सभी योजनाओं के लाभ इसी खाता नंबर के जरिये दिए जाएंगे। संगठन ने सदस्यों को यूएएन जारी करने की योजना का रोडमैप तैयार करने का काम सी-डैक को सौंपा था। सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस्ड कंप्यूटिंग (सी-डैक) संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत काम करने वाला प्रमुख शोध एवं विकास संगठन है।

ईपीएफओ अधिकारियों के मुताबिक यूएएन जारी होने पर संगठन पर काम का बोझ कम होगा। संगठन को हर साल सदस्यों के 12 लाख से ज्यादा पीएफ खातों को ट्रांसफर करना पड़ता है। बीते साल संगठन ने पीएफ भुगतान और ट्रांसफर सहित कुल 1.21 करोड़ दावों का निपटारा किया है। अधिकारियों के मुताबिक ज्यादातर कर्मचारी नौकरी बदलने पर अपने खाते को बंद करवाकर नया खाता खुलवाते हैं। इस प्रक्रिया में काफी समय लगता है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags