नई दिल्ली। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के 6 करोड़ से ज्यादा खाताधारकों के लिए अच्छी खबर है। श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने ऐलान किया है कि त्योहारी सीजन से पहले EPFO कर्मचारियों के खाते में 2018-19 के लिए 8.65 फीसद के हिसाब से ब्याज जमा करेगा।

बता दें कि EPFO के लिए निर्णय लेने वाली सर्वोच्च इकाई केंद्रीय न्यासी बोर्ड ने इस साल की 21 फरवरी को पिछले वित्तीय वर्ष के लिए 8.65 फीसद ब्याज देने का निर्णय लिया था।

गंगवार ने यह बात राष्ट्रीय सुरक्षा पुरस्कार समारोह से इतर मीडिया से चर्चा के दौरान कही। बकौल गंगवार, इस प्रस्ताव को वित्त मंत्रालय की सहमति के लिए भेजा गया है।

वर्तमान में ईपीएफओ PF निकासी के दावों का 8.55 फीसद की दर पर निपटारा कर रहा है। यह ब्याज दर 2017-18 के लिए अनुमोदित की गई थी। EPF ब्याज दरों को अधिसूचित करने में देरी के बारे में मंत्री ने कहा कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इन दिनों व्यस्त हैं। वह 2018-19 के लिए निर्धारित की गई ब्याज दर से असहमत नहीं हैं। इसे कुछ ही दिनों में मंजूरी मिल जाएगी।

अब 3 दिन में हो सकेगा PF क्‍लेम सेटलमेंट

अगस्त के आखिरी में EPFO ने एक बड़ा ऐलान किया था। तब कहा गया था कि वेतनभोगियों के लिए कर्मचारी भविष्य निधि या EPF विड्रावल की प्रक्रिया जल्द ही आसान होने वाली है। उन्हें अपना पीएफ (प्रोविडेंट फंड) मात्र 3 दिनों में मिल जाएगा। EPF कार्यालय या EPFO इस संबंध में तेजी से काम कर रहा है। EPFO के कमिश्नर सुनील बर्थवाल ने यह जानकारी दी थी।