कोरोना महामारी से आज देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया त्रस्त है। दूसरी लहर ने देश में जो कोहराम मचाया था उससे कई लोग अनाथ हो चुके हैं। हालांकि अब यह लहर थमी हुई नजर आ रही है। लेकिन जिस तरह से देश में दूसरी लहर ने जन-जीवन को अस्त व्यस्त कर दिया अब इसकी रफ्तार थमने के बाद भारत में तीसरी लहर का संकट मंडराने लगा है। तीसरी लहर को लेकर पिछले कई दिनों से कयास लगाए जा रहे हैं कि क्या सच में तीसरी लहर दस्तक देने वाली है? कब आएगी तीसरी लहर? सवाल चाहे जो भी हो लेकिन सतर्क रहने की आवश्यकता देश के हर नागरिक को है। विश्व के कई देश अब भी कोरोना की तीसरी लहर से जूझ रहे हैं, जो देश को चेतावनी दे रहे हैं।

देश में तीसरी लहर से बचने के लिए कुछ विशेषज्ञों ने अपनी राय दी है। रिसर्च फाॅर रिजर्जेंस फाउंडेशन के अनुसार हम विभिन्न प्रकार और गुणों के मास्क के उपयोग की दृढ़ता से अनुशंसा करते हैं, जिनमें कोविड-19 डेल्टा प्लस वैरिएंट के तेजी से प्रसार के प्रभावी नियंत्रण के लिए उच्च निस्पंदन क्षमता होती है। संक्रमण को रोकने के लिए फेस मास्क वास्तव में सबसे अधिक सुरक्षात्मक होते हैं। ये अनिवार्य और सरल बाधाएं हैं, जो मदद कर सकती हैं। उन्होंने बताया कि इस महामारी से बचने के लिए म्यूकर माइकोसिस जैसी पोस्ट-कोविड स्वास्थ्य जटिलताओं की शीघ्र पहचान की भी सिफारिश की जाती है। इसके अलावा टीकाकरण कार्यक्रम में विस्तार को भी सिफारिशों में शामिल किया गया है।

केन्द्र सरकार, राज्यों, शैक्षणिक संस्थानों और नागरिक समाज के हर स्तर पर कोरोना की तीसरी लहर के प्रभाव से बचने के लिए सिफारिशें दी गई हैं। विशेषज्ञों की इस रिपोर्ट के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए नीति निर्माताओं, शिक्षाविदों और अन्य हितधारकों के बीच इसे भेजा गया है। इस रिपोर्ट में कोरोना संक्रमण दर को कम करने का एक आसान तरीका बताया गया है जो कि वायरस के जोखिम से बचना है। इस दौरान भारत के लोगों को वायरस से अत्यधिक प्रभावित देशों की यात्रा करने से बचना चाहिए। जितना हो सके अपने आस-पास स्वच्छता का ध्यान रखें एवं ऐसे भोजन का सेवन करें जो पूर्णतः घर में बना हो।

जानकारी के लिए अपको बतादें कि देश में पिछले एक सप्ताह में कोरोना के 16 फीसदी मामले बढ़े हैं। इस खतरे को देखते हुए सरकार की ओर से भी कहा जा रहा है कि अगले 100 दिन बेहद खास हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी कोरोना की तीसरी लहर को लेकर आगाह कर चुके हैं। इस तरह से आने वाले 100 से 125 दिन भारत के लिए खास हैं। ऐसे में देश के पीएम ने भी लोगों को सतर्कता बरतने के लिए कहा। बता दें कि विश्व में इस सप्ताह 33.76 लाख कोरोना के केस सामने आए हैं पिछले हफ्ते 29.22 लाख मामले सामने आए थे। इस प्रकार देखा जाए तो 16 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags