FASTag सुविधा देशभर में शुरू हो चुकी है और लोगों को इसका फायदा भी मिलने लगा है। आगे ध्यान रखने वाली बात यह है कि जैसे ही FASTag बैलेंस खत्म हो, इसे रिचार्ज कर लिया जाए। इसके लिए यह जानना जरूरी है कि FASTag Balance कितना शेष है। इंडियन हाईवेज मैनेजमेंट कंपनी (आईएचएमसीएल) ने इसके लिए मिस कॉस सुविधा शुरू की है। यही कंपनी FASTag बैलेंस (प्रीपेड) का हिसाब-किताब रखती है। कंपनी की ओर से जारी +91-8884333331 नंबर पर अपने रजिस्‍टर्ड मोबाइल से मिस कॉल देकर ग्राहक FASTag बैलेंस का पता लगाया जा सकता है। जानिए इसी सुविधा के बारे में -

आईएचएमसीएल से मिली जानकारी के अनुसार, यह सुविधा 24X7 उपलब्ध है और खास बात यह भी कि इसके लिए इंटरनेट की कोई जरूरत नहीं। यदि किसी मोबाइल नंबर पर एक से अधिक गाड़ियां रजिस्टर्ड हैं तो सभी गाड़ियों का FASTag बैलेंस बताया जाएगा औ जिस वाहन का FASTag बैलेंस कम होगा, उसके लिए अलग से एसएमएस भी भेजा जाएगा। ध्यान देने वाली बात यह है कि यह सुविधा केवल एनएचएआई FASTag यूजर्स के लिए है। यानी आपका FASTag अकाउंट एनएचएआई प्रीपेड वॉलेट से जुड़ा है तो ही बैलेंस पता चल पाएगा। दूसरे बैंकों से जुड़े होने पर नहीं।

बता दें, एनएचएआई ने My FASTag App की शुरू की है। अब तक करीब 2.5 लाख यूजर्स इस ऐप पर रजिस्ट्रेशन कर चुके हैं। एनएचएआई FASTag को किसी भी सेविंग बैंक अकाउंट से लिंक किया जा सकता है। यह एक प्रीपेट अकाउंट है, जहां से FASTag की राशि कटती है। कुल मिलाकर 13 बैंक हैं, जिनके साथ एनएचएआई ने टाइअप किया है।

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket