देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहा है। पिछले 24 घंटे में कोविड 19 के 3,17,532 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 491 लोगों की मौत हुई है। अब तक ओमिक्रोन के कुल 9287 केस दर्ज किए गए हैं। हालांकि अब लोगों को कोरोना वैक्सीन लगना शुरू हो चुकी है। ऐसे में इस महामारी से काफी हद तक सुरक्षित हैं। वहीं अब पशुओं को भी कोरोना वायरस का खतरा नहीं रहेगा। हिसार में स्थित केंद्रीय अश्व अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने जानवरों के लिए वैक्सीन तैयार की है।

कुत्तों में मिली एंटीबॉडी

सेना के 23 कुत्तों पर इसका ट्रायल किया, जो सफल रहा। वैक्सीन लगने के बाद कुत्तों में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी मिली। डॉग्स पर सफल ट्रायल होने के बाद अब जूनागढ़ के सक्करबाग जूलॉजिकल पार्क के शेरों को वैक्सीन लगाई जाएगी। गुजरात सरकार से अनुमति मिलते ही शुरू किया जाएगा। इसके बाद बड़े स्तर पर पशुओं का टीकाकरण होगा।

शेर की डेल्टा वैरिएंट से मौत

वैज्ञानिक डॉक्टर नवीन कुमार ने बताया कि कोविड 19 कुत्ता, बिल्ली, चीता, तेंदुआ और हिरण में प्रमुखता से देखने को मिला है। कुछ महीने पहले चेन्नई के चिड़ियाघर में मृत शेर में कोरोना वायरस की पहचान हुई। जांच में पता चला कि मौत डेल्टा वैरिएंट से हुई थीं।

इन देशों में पशुओं को वैक्सीन लगना शुरू

केंद्रीय अश्व अनुसंधान संस्थान के निदेशक डॉ. यशपाल सिंह ने कहा, 'इंसानों से पशुओं और फिर जानवरों से मनुष्यों के संक्रमित होने के कई अध्ययन सामने आए हैं।' इस लिए पशुओं को इससे बचाना बेहद जरूरी है। उन्होने कहा कि अमेरिका और रूस में जानवरों को वैक्सीन लगना शुरू हो गई है। हम भी टीका तैयार करने में काफी समय से जुटे थे। अब संस्थान ने वैक्सीन तैयार की सफलता हासिल की है।

Posted By: Sandeep Chourey