बेंगलुरु। रडार जैमर से लैस हल्का लड़ाकू विमान तेजस-पी 5 ने शनिवार को यहां पहली उड़ान भरी। रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) के अध्यक्ष अविनाश चंदर ने इस उपलब्धि पर टीम को बधाई देते हुए कहा कि तेजस की सफलता हमारे हल्के लड़ाकू विमान की क्षमता को बढ़ाने में मददगार साबित होगी।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि यह पहली बार है जब हमने रडार की पकड़ में न आने वाले विमान को विकसित किया है। इस तरह के लड़ाकू विमान की यह पहली उड़ान थी। तेजस-पी 5 में जैमर लगा हुआ है, जो किसी दुश्मन देश की रडार में पकड़ में नहीं आएगा।

यदि रडार की पकड़ में आ भी जाता है तो यह पहले ही विमान के चालक को चेतावनी संदेश जारी कर देगा। उड़ान मंजूरी और प्रमाण पत्र हासिल करने के बाद देश में निर्मित तेजस श्रेणी के इस विमान ने पहली उड़ान भरी।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना